close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: 'अमर जवान ज्योति' पहुंचे राज्यपाल कलराज मिश्र, शहीदों को दी श्रद्धांजलि

अमर जवान ज्योति पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कलराज मिश्र ने विजिटर्स बुक में हस्ताक्षर किए. इसके साथ ही उन्होंने गौरवांवित करने वाले विचार भी लिखे.

जयपुर: 'अमर जवान ज्योति' पहुंचे राज्यपाल कलराज मिश्र, शहीदों को दी श्रद्धांजलि
शपथ लेने के बाद यह राज्यपाल का पहला कार्यक्रम था.

जयपुर: राज्यपाल कलराज मिश्र शपथ लेने के तीसरे दिन अमर जवान ज्योति पहुंचे. जहां उन्होंने पुष्पचक्र अर्पित किया और दो मिनट का मौन रखकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी. यह शपथ लेने के बाद उनका पहला कार्यक्रम था. 

अमर जवान ज्योति पर श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद कलराज मिश्र ने विजिटर्स बुक में हस्ताक्षर किए. इसके साथ ही उन्होंने गौरवांवित करने वाले विचार भी लिखे. जिसमें कहा कि राजस्थान वीरों की भूमि है. अमर जवान ज्योति पूजनीय स्थल है. यह स्मारक देश रक्षा में किए गए बलिदानों का जीवंत और प्रखर स्मृति है. यह स्थान लोगों के लिए देश रक्षा का प्रेरणा स्थल है. मैं यहां वीरों को शत शत नमन करता हूं. 

वहीं कार्यपालिका को निर्देश देने के सवाल पर उन्होंने मीडिया को जवाब देते हुए कहा कि जिन क्षेत्रों का जिम्मा मेरे पास है. उसमें जरूरत पड़ने पर अफसरों को निर्देश देने का काम करूंगा. उन्होंने कहा कि मैं पहले ही कह चुका हूं कि विश्वविद्यालय में शैक्षणिक वातावरण तैयार किया जाएगा. इसके साथ ही पश्चिम क्षेत्र संस्कृति और आदिवासी विकास पर भी प्राथमिकता से ध्यान देंगे. 

साथ ही राज्यपाल कलराज मिश्र ने यह भी कहा कि यह वीर-वीरांगनाओं की भूमि है. इस पावन धरती ने अनेक ऐसे लाल पैदा किये, जिन्होंने राष्ट्र सेवा में अपने प्राण न्यौछावर कर दिए. जरूरत पड़ने पर अफसरों को निर्देश दिया जाएगा. इस दौरान जीएडी सचिव राजेश शर्मा, कलक्टर जगरूप यादव सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे. 

बता दें कि हाल ही में कलराज मिश्र ने राजस्थान के राज्यपाल के रूप में शपथ ली है. कलराज मिश्र इससे पहले मोदी सरकार में 2017 तक सूक्ष्‍म, लघु और उद्यम मंत्री (एमएसएमई) रहे. वह तीन बार राज्‍यसभा के भी सदस्‍य रहे. कलराज मिश्र ने  2017 में कलराज मिश्र ने मंत्री पद से इस्‍तीफा दे दिया था. आधिकारिक तौर पर कलराज मिश्र ने लोकसभा चुनाव (Lok sabha elections 2019) नहीं लड़ने का ऐलान किया था. हालांकि उस समय मोदी सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके कलराज मिश्र को हरियाणा का चुनाव प्रभारी बनाया गया था.