ममता बनर्जी और CBI के बीच टकराव के बाद आखिर अब तक क्‍या हुआ, यहां जानें

कोलकाता के पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची सीबीआई की टीम को पुलिस के हिरासत में लेने के बाद सियासी घटनाक्रम तेजी से बदला है.

ममता बनर्जी और CBI के बीच टकराव के बाद आखिर अब तक क्‍या हुआ, यहां जानें
धरने पर बैठीं ममता बनर्जी के समर्थक भी मौके पर जुटे हैं. फोटो ANI

नई दिल्‍ली : पश्चिम बंगाल में पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार से पूछताछ करने रविवार को पहुंची केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (सीबीआई) की टीम को पुलिस के हिरासत में लेने के बाद सियासी घटनाक्रम तेजी से बदला है. मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी इस मामले में रविवार रात को ही धरने पर बैठ गईं. उन्‍होंने ऐलान किया कि उनका 'संविधान बचाओ' धरना सोमवार को भी जारी रहेगा. इस पूरे घटनाक्रम पर एक नजर :

1. शारदा चिट फंड घोटाले से जुड़े मामले में सीबीआई की 40 अधिकारियों की टीम रविवार को कोलकाता पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार से पूछताछ करने लाउडन स्ट्रीट स्थित उनके आवास पर पहुंची. सीबीआई अधिकारियों की टीम को वहां तैनात संतरियों-कर्मियों ने अंदर जाने से रोक दिया. इसके बाद कोलकाता पुलिस ने सीबीआई के अधिकारियों को हिरासत में भी ले लिया. साथ ही उन्‍हें शेक्सपियर सरनी पुलिस थाने ले जाया गया.

2. संभवत: इति‍हास में ये पहली बार हुआ, जब पुलिस ने ऑन ड्यूटी सीबीआई अधि‍कारि‍यों को हिरासत में लिया. सूत्रों के अनुसार मौके पर पुलिस और अधिकारियों के बीच हाथापाई भी हुई. हालांकि बाद में उन्‍हें छोड़ भी दि‍या गया.

3. ममता बनर्जी अपने आला अफसर के साथ पुलिस कमिश्‍नर राजीव कुमार के घर पहुंच गईं. आगामी लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी विरोधी गठबंधन बनाने के प्रयासों में अग्रणी भूमिका निभा रहीं ममता ने दावा किया कि सीबीआई ने बगैर तलाशी वॉरंट के ही कोलकाता के पुलिस आयुक्त कुमार के दरवाजे पर दस्तक दी.

4. ममता ने आरोप लगाया कि केंद्र की बीजेपी सरकार हर उस राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाना चाहती है, जहां विपक्षी पार्टियां सत्ता में हैं. उन्‍होंने कहा, ‘‘मैं यकीन दिला सकती हूं...मैं मरने के लिए तैयार हूं, लेकिन मैं मोदी सरकार के आगे झुकने के लिए तैयार नहीं हूं. हम आपातकाल लागू नहीं करने देंगे. कृपया भारत को बचाएं, लोकतंत्र बचाएं, संविधान बचाएं.’’

5. ममता बनर्जी चिटफंड घोटाला मामले में कोलकाता पुलिस प्रमुख से सीबीआई की पूछताछ के प्रयास के खिलाफ रात करीब 9 बजे कोलकाता के मेट्रो चैनल पर धरने पर बैठ गईं. इसके अलावा सीबीआई के दो दफ्तरों पर भी पुलिस ने कब्‍जा कर लिया. जब ममता बनर्जी का धरना शुरू हुआ तब पुलिस ने दफ्तरों को खाली किया. इसके बाद इनकी सुरक्षा सीआरपीएफ के जवानों ने अपने हाथ में ले ली.

6. गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने सबसे पहले ये रोक लगाई थी कि उसके राज्‍य में सीबीआई बि‍ना उसकी अनुमति के कोई एक्‍शन नहीं लेगी. अब बीजेपी सवाल उठा रही है कि ममता बनर्जी आखिरकार सीबीआई से इतना क्‍यों डर रही हैं.

7. ममता बनर्जी के इस धरने को विपक्षी नेताओं ने पूरे समर्थन की घोषणा की है. ममता बनर्जी का कहना है, ‘‘अखिलेश यादव (सपा), तेजस्वी यादव (राजद), चंद्रबाबू नायडू (तेदेपा), उमर अब्दुल्ला (नेकां), अहमद पटेल (कांग्रेस) और एम के स्टालिन (द्रमुक) ने मुझे फोन करके अपनी एकजुटता एवं अपना समर्थन व्यक्त किया.’’

8. सीबीआई सूत्रों ने रविवार को कहा कि जांच एजेंसी सोमवार को इस मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का रूख करेगी. सीबीआई ने दावा किया कि पोंजी घोटालों में उसकी जांच में पश्चिम बंगाल सरकार और राज्य की पुलिस रोड़े अटका रही है.

9. ममता ने सभी विपक्षी पार्टियों से अपील की कि वे मोदी सरकार को सत्ता से बेदखल करने के लिए एकजुट हों. उन्होंने थलसेना के अलावा केंद्र एवं राज्यों के सुरक्षा बलों का भी आह्वान किया कि वे मोदी सरकार के रवैये की ‘‘निंदा'' करें.

10. सीबीआई के संयुक्त निदेशक पंकज श्रीवास्तव ने कहा कि एजेंसी के अधिकारी कोलकाता पुलिस प्रमुख राजीव कुमार के आवास पर उनसे चिटफंड मामले में पूछताछ करने गए थे और ‘अगर वह हमारा सहयोग नहीं करते तो हम उन्हें हिरासत में लेते’.