• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    349बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    88कांग्रेस+

  • अन्य

    105अन्य

मुंबईः बेस्ट के 40 हजार कर्मचारियों की हड़ताल से मुंबई की सड़कों पर पसरा सन्नाटा

बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल से लोकल ट्रेन में भी भीड़ बढ़ गई है और ओला-उबेर जैसी टेक्सियों का किराया भी बढ़ गया है.

मुंबईः बेस्ट के 40 हजार कर्मचारियों की हड़ताल से मुंबई की सड़कों पर पसरा सन्नाटा
स्ट कर्मचारी ग्रेच्युटी, बोनस, सातवां वेतन आयोग जैसी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं.

(देवेंद्र कोल्हटकर)/मुंबईः मुंबई में आज से 40 हजार बेस्ट कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं. जिसके चलते मुंबई में बेस्ट की एक भी बस नजर नहीं आ रही है और पूरी मुंबई में सन्नाटा छाया हुआ है. बेस्ट कर्मचारी ग्रेच्युटी, बोनस, सातवां वेतन आयोग, और बेस्ट में खाली जगह को जल्द से जल्द भरने जैसी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं. बता दें मुंबई में लगभग 25 लाख यात्री रोजाना बेस्ट की बस में यात्रा करते हैं. ऐसे में बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल से यात्रियों की परेशानियां बढ़ गई हैं. वहीं बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल से लोकल ट्रेन में भी भीड़ बढ़ गई है. ओला-उबेर जैसी टेक्सियों का किराया भी बढ़ गया है.

सपा नेता का आरोप, 'सरकारी डॉक्टर मुस्लिमों से ऑपरेशन से पहले दाढ़ी कटवाने को कहते हैं'

बेस्ट के कर्मचारियों की हड़ताल के चलते आज सुबह से सभी बस स्टेंड खाली रहे. एक भी बस डिपो से बाहर नहीं निकली है. वहीं कॉलेज जाने वाले छात्र और ऑफिस जाने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड रहा है. वहीं कर्मचारियों की हड़ताल से बढ़ी समस्याओं को देखते हुए बेस्ट प्रशासन ने कर्मचारियों पर कार्रवाई की धमकी दी है. बता दें मंगलवार की सुबह 8 बजे तक सिर्फ एक कंडक्टर और 8 बस ड्राइवर ही ड्यूटी पर पहुंचे थे, वहीं हजारों कर्मचारी हड़ताल पर चल रहे हैं.

Zee News की मुहिम को मिला मुंबई पुलिस का साथ, अवैध पार्किंग पर की कार्रवाई

मिली जानकारी के मुताबिक बेस्ट प्राशासन ने सभी कर्मचारियों को जल्द से जल्द ड्यूटी पर वापस आने की बात कही है. बता दें बेस्ट कर्मचारियों की हड़ताल को औद्योगिक न्यायालय ने अवैद्य करार दिया है. जिसके चलते बीएमसी ने साफ किया है कि अगर कर्मचारी जल्दी ही ड्यूटी पर वापस नहीं आए तो उन पर मेस्मा (महाराष्ट्र एसेंशियल सर्विसेज) के तहत कार्यवाई की जाएगी. 

देखिए अभी की बड़ी खबरें

बता दें बेस्ट अभी 2 हजार करोड़ के कर्ज पर चल रहा है. वहीं बीएमसी ने बेस्ट को और पैसे देने से साफ मना कर दिया है, जिसके चलते बेस्ट कर्मचारी कम वेतन में अपना गुजारा कर रहे हैं, जिसके चलते कर्मचारियों ने हड़ताल का फैसला लिया है. बता दें कर्मचारी पहले भी बीएमसी के सामने अपनी मागें रख चुके हैं, जिस संबंध में बीएमसी ने एक बैठक भी की थी, लेकिन उस बैठक में कर्मचारियों की समस्याओं का कोई हल नहीं निकल सका.