close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मुंबई में मुस्लिम महिलाओं ने किया योग, कहा- 'इसे धर्म से जोड़ना गलत है'

हैदर आजम महाराष्ट्र सरकार मौलाना आजाद अल्पसंख्यक कार्पोरेशन के चेयरमैन हैं. कार्यकम में हिस्सा लेने वाली महिलाएं य़ोग को लेकर काफी खुश थी. योग के आसन करने के बाद महिलाओं ने कहा, योग के जरिए उनको कमर दर्द गुठने का दर्द, सांस की तकलीफ जैसी बिमारियो से मुक्ति मिली हैं.

मुंबई में मुस्लिम महिलाओं ने किया योग, कहा- 'इसे धर्म से जोड़ना गलत है'
योग को धर्म से जोड़ने वाली दीवार को तोड़ते हुए लोगों ने कहा, योग को धर्म से नहीं जोड़ा जाना चाहिए.

मुंबईः अंतराष्ट्रीय योग दिवस यानि की 21 जून को मुंबई मलाड़ इलाके में बड़ी संख्या में मुस्लिम समुदाय के लोगों योग अभ्यास में हिस्सा लिया. इस कार्यक्रम में महिलाओं के साथ पुरुष भी भारी संख्या में मौजूद थे. मलाड़ में योग कार्यक्रम का आयोजन हाजी हैदर आजम की तरफ किया गया था.

योग ने दिलाई बीमारियों से मुक्ति
हैदर आजम महाराष्ट्र सरकार मौलाना आजाद अल्पसंख्यक कार्पोरेशन के चेयरमैन हैं. कार्यकम में हिस्सा लेने वाली महिलाएं य़ोग को लेकर काफी खुश थी. योग के आसन करने के बाद महिलाओं ने कहा, योग के जरिए उनको कमर दर्द गुठने का दर्द, सांस की तकलीफ जैसी बिमारियो से मुक्ति मिली हैं और योग करना उन्हें काफी अच्छा लगता हैं.

प्रधानमंत्री मोदी को कहा शुक्रिया
योग को धर्म से जोड़ने वाली दीवार को तोड़ते हुए लोगों ने कहा, योग को धर्म से नहीं जोड़ा जाना चाहिए. ये सिर्फ योग है और इससे शरीर को बिमारियों से लड़ने में ताकत मिलती है. योग अभ्यास का आयोजन करने वाली हाजी हैदर का कहना है कि योग को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी धन्यवाद करना चाहते है जिनके वजह से आज अंतरराष्ट्रीय योग दिवस इतना प्रचलित हुआ और दुनिया भर के लोग योग कर रहे हैं. 

योग को लेकर कोई आपत्ति नहीं है
हैदर ने योग को धर्म से जोड़ने वालों पर निशाना साधते हुए कहा कि मुस्लिम समुदाय के ज्यादातर लोगों को योग से किसी भी तरह की आपत्ति नहीं है.