शिवसेना ने कांग्रेस को दी नसीहत, कहा- महाराष्ट्र और देश के लिए देवता हैं वीर सावरकर

नेहरू और गांधी की तरह सावरकर ने आजादी के लिए अपना बलिदान दिया था: शिवसेना

शिवसेना ने कांग्रेस को दी नसीहत, कहा- महाराष्ट्र और देश के लिए देवता हैं वीर सावरकर
राउत ने कहा कि वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं.

मुंबई/नई दिल्ली: शिवसेना नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने शनिवार को कहा कि वीर सावरकर न केवल महाराष्ट्र बल्कि देश के भी देवता हैं. उन्होंने कहा कि सावरकर का नाम देश के लिए गर्व और गौरव का विषय है. नेहरू और गांधी की तरह सावरकर ने स्वतंत्रता के लिए अपना बलिदान दिया था. ऐसे हर भगवान को सम्मानित किया जाना चाहिए. इससे कोई समझौता नहीं होना चाहिए.

राज्यसभा सांसद राउत ने यह ट्वीट कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान के बाद में किया है, जिसमें राहुल ने बीजेपी पर तंज कसते हुए कहा कि उनका नाम 'राहुल सावरकर' नहीं है, वह राहुल गांधी हैं और माफी नहीं मांगेंगे.

राउत ने कहा, ''हम महात्मा गांधी और पंडित नेहरू दोनों का सम्मान करते हैं. कृपया वीर सावरकर का अपमान न करें. बुद्धिमान लोगों को अधिक कुछ भी बताने की आवश्यकता नहीं है.''

दरअसल, राहुल ने दिल्ली के रामलीला मैदान में शनिवार को कांग्रेस की ओर से आयोजित भारत बचाओ रैली को संबोधित करते हुए कहा, "कल संसद में भाजपा के नेता मुझसे माफी की मांग कर रहे थे. लेकिन मैं उन्हें बता देना चाहता हूं कि मेरा नाम 'राहुल सावरकर' नहीं है, मैं राहुल गांधी हूं. मैं सच बोलने के लिए माफी नहीं मागूंगा."

क्या गांधी परिवार बांटेगा 'देशभक्ति' का लाइसेंस? कांग्रेस कब तक करेगी सावरकर पर सियासत?

राहुल का इशारा हिंदूवादी नेता दिवंगत विनायक दामोदर सावरकर द्वारा 14 नवंबर, 1913 को ब्रिटिश सरकार को लिखे गए माफी पत्र की तरफ था, जिसे उन्होंने अंडमान के सेलुलर जेल में बंद रहने के दौरान लिखा था.