धारा 370 पर बोलीं महबूबा, बारूद के ढेर पर चिंगारी फेंकोगे तो न कश्मीर रहेगा न हिंदुस्तान

महबूबा मुफ्ती ने कहा कि जम्मू कश्मीर पहले ही बारूद के ढेर पर बैठा हुआ है जिसकी झलक हाल ही में पुलवामा में देखने को मिली. महबूबा ने कहा कि अगर इस तरह की बयानबाजी से भाजपा बाज़ नहीं आती है तो या न सिर्फ जम्मू कश्मीर को बल्कि पूरे मुल्क को जलाकर राख़ कर देगा.

धारा 370 पर बोलीं महबूबा, बारूद के ढेर पर चिंगारी फेंकोगे तो न कश्मीर रहेगा न हिंदुस्तान

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी की अध्यक्ष महबूबा मुफ़्ती ने सोमवार को कहा कि बीजेपी हर कदम पर नाकाम रही है. वह ऐसे मुद्दे ढूंढ रही है, जो वोट बटोरने के लिए हैं. उन्होने कहा कि अगर 370 को हटाया जाता है तो फिर हिंदुस्तान का जम्मू कश्मीर पर नाजायज कब्जा होगा. उन्होंने बीजेपी को चेतावनी देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर में बारूद है आप चिंगारी फेंकोगे तो न जम्मू कश्मीर रहेगा और न हिंदुस्तान रहेगा.

महबूबा मुफ़्ती ने कहा कि भाजपा हर कदम पर नाकाम हुई है चाहे वो बेरोज़गारी का मुद्दा हो, चाहे किसानों के मसले हो या फिर महंगाई का मुद्दा. उन्होंने कहा कि इन नाकामियों की वजह से अब वह ऐसे मुद्दे तलाश रही है जिसके आधार पर वो वोट हासिल कर सके. 35 ए ऐसा ही मामला है. महबूबा ने कहा कि जहां तक 370 का सवाल है उसको लेकर मैं पहले ही कह चुकी हूं कि 370 जम्मू कश्मीर को मुल्क के साथ जोड़ता है और जब आप इस पुल को तोड़ते हो तो हिंदुस्तान का जम्मू कश्मीर पर क़ब्ज़ा नाजायज़ बन जाता है, यह व्यावसायिक बल बन जाता है.

उन्होने कहा कि जम्मू कश्मीर पहले ही बारूद के ढेर पर बैठा हुआ है जिसकी झलक हाल ही में पुलवामा में देखने को मिली. महबूबा ने कहा कि अगर इस तरह की बयानबाजी से भाजपा बाज़ नहीं आती है तो या न सिर्फ जम्मू कश्मीर को बल्कि पूरे मुल्क को जलाकर राख़ कर देगा. इसलिए मैं चेतावनी देती हूँ भाजपा वालों को कि आप लोग आग के साथ खेलना बंद कर दो. जम्मू कश्मीर में बारूद है आप चिंगारी फैंकोगे तो न जम्मू कश्मीर रहेगा और न तो हिंदुस्तान.

महबूबा ने कहा कि पिछले 70 साल से जो जम्मू कश्मीर के लोग लड़ रहे हैं किसी मक़सद के लिए. जब 370 से जम्मू कश्मीर को आज़ाद करोगे तो आप जम्मू कश्मीर को मुल्क से भी आज़ाद करोगे. उन्होंने कहा कि जिस तरह से एनआईए ने हमारे धार्मिक प्रचारक मीरवाइज़ मोलवी उमर फारूक को दिल्ली ले गई ये दिखाने के लिए कि किस तरह से हम कश्मीर में सख्ती कर रहे हैं. केवल मीरवाइज़ के साथ नहीं सभी कश्‍मीरियों की इज्ज़त के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं, जिसके नतीजे भविष्य में बहुत खतरनाक होने वाले हैं.

बता दें कि महबूबा मुफ़्ती ने यह भी कहा कि जिस वक़्त 370 को ख़त्म करेंगे तो उस वक़्त ख़ुदबख़ुद जम्मू कश्मीर में जो मुख्यधारा के नेता हैं उन पर हिंदुस्तान के संविधान के तहत चुनाव लड़ने पर प्रतिबंध लग जाएगा, उनको प्रतिबंध लगाने की ज़रूरत ही नहीं पड़ेगी. उन्होंने कहा अगर 370 के साथ छेड़छाड़ हो जाती है तो हिंदुस्तान का संविधान हम पर लागू ही नहीं होगा. महबूबा अनंतनाग से जबकि अब्दुल्ला श्रीनगर सीट से चुनाव लड़ रहे हैं.

महबूबा ने उर्दू के मशहूर शायर अल्लामा इकबाल का एक शेर पढ़ा, ‘‘ना समझोगे तो मिट जाओगे ए हिंदुस्तां वालों, तुम्हारी दास्तां तक भी ना होगी दास्तानों में.’