close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

चिड़ियाघर में जानवरों को गर्मी से बचाने के लिए किया जा रहा है बर्फ, फल और ग्लूकोज का प्रयोग

 चिड़ियाघर के क्यूरेटर प्रत्यूष पाटणकर कहा कि, ‘‘भालुओं के बाड़े में बर्फ की सिल्लियां रखी गई हैं और सभी जानवरों को ठंडक देने के लिए पानी का छिड़काव किया जा रहा है.’’

चिड़ियाघर में जानवरों को गर्मी से बचाने के लिए किया जा रहा है बर्फ, फल और ग्लूकोज का प्रयोग
वडोदरा नगर आयुक्त अजय भादू ने बताया कि फर्श को दिन में दो बार धोया जा रहा है. (सांकेतिक फोटो)

वडोदराः तपती गर्मी के मद्देनजर गुजरात में वडोदरा जिले के सायाजी बाग चिड़ियाघर में जानवरों को बर्फ की सिल्लियां मुहैया कराई जा रही हैं और उन्हें फल और ग्लूकोज युक्त आहार दिया जा रहा है ताकि उन्हें ठंडा रखा जा सके और उनके शरीर में पानी की कमी नहीं हो. चिड़ियाघर के क्यूरेटर प्रत्यूष पाटणकर ने सोमवार को ‘पीटीआई भाषा’ को बताया कि जिले में तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो जाने के कारण पिछले कुछ दिनों में यहां चार गौरेया मर गईं.

Video: मतदान के दौरान पुलिस अधिकारी को BJP नेता ने दी धमकी, बोले- तू मेरी हिट लिस्ट में है

उन्होंने बताया कि इस प्रकार की घटनाओं को रोकने के लिए तिनकों और जाल से बने छप्पर बनाए गए हैं ताकि जानवरों को गर्मी से बचाया जा सके. उन्होंने कहा, ‘‘भालुओं के बाड़े में बर्फ की सिल्लियां रखी गई हैं और सभी जानवरों को ठंडक देने के लिए पानी का छिड़काव किया जा रहा है.’’ वडोदरा नगर आयुक्त अजय भादू ने बताया कि फर्श को दिन में दो बार धोया जा रहा है और शाकाहारी जानवरों को तरबूज, गन्ने का रस और पपीता दिया जा रहा है ताकि उनके शरीर में पानी की कमी नहीं हों। उन्होंने बताया कि गर्मी के बावजूद सैकड़ों लोग रोजाना चिड़ियाघर आ रहे हैं.

(इनपुट भाषा)