चंडीगढ़ में बिका इतना सस्ता प्याज कि महज 4 घंटे में बिक गया 8 क्विटंल

पॉलीथीन के दुष्प्रभावों के बारें में लोगों को जागरूक करते हुए कपड़े से बने थैलों में प्याज बेचा गया.

चंडीगढ़ में बिका इतना सस्ता प्याज कि महज 4 घंटे में बिक गया 8 क्विटंल
ये पहल चंडीगढ़ की नारी जागृति मंच की पिंक ब्रिगेड ने की.

चंडीगढ़: चंडीगढ़ के सेक्टर 40 स्थित श्रीहनुमंत धाम मंदिर के नजदीक उस वक्त भीड़ लग गई, जब वहां 90 से 100 रुपये बिकने वाले प्याज को 65 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेचा जाने लगा. देखते ही देखते प्याज खऱीदने वाले लोगों की कतारें लग गई. नासिक से आया लाल लाल प्याज 12 बजे बिकना शुरू हुआ और 4 घंटे में ही 800 किलो प्याज बिक गया. दरअसल, ये पहल चंडीगढ़ की नारी जागृति मंच की पिंक ब्रिगेड ने की. जिन्होनें लोगों को 100 रुपये प्रति किलो मिलने वाला प्याज 65 रुपये में वितरित किया. इसके साथ ही पॉलीथीन के दुष्प्रभावों के बारें में लोगों को जागरूक करते हुए कपड़े से बने थैलों में प्याज बेचा गया.

एक व्यक्ति ज्यादा से ज्यादा 2 किलो ही प्याज खरीद सकता था. मंच की प्रधान नीना तिवाड़ी ने बताया कि संस्था ने 65 रुपये प्रतिकिलो के हिसाब से प्याज सेक्टर 26 की मंडी से लिया. मंच की महिलाओं ने अपने स्तर पर 'नो प्रोफिट नो लॉस' पर ये प्याज दिया. नीना ने कहा प्रशासन काफी देर पहले वादा कर चुका था कि लोगों को सस्ता प्याज मुहैया करवाएगा लेकिन प्रशासन अब तक स्टॉल नहीं लगा पाया इसलिए पिंक बिग्रेड ने ये कदम उठाया. 

नीना तिवाड़ी ने बताया कि प्याज हर घर की रसोई की शान है. सामाजिक व लोक कल्याण कार्यो में संलिप्त नारी जागृति मंच का यह मध्यम वर्ग के परिवारों को कुछ राहत देने का एक छोटा सा प्रयास है. उन्होंने कहा कि ऐसे जनकल्याणकारी कार्यो को बढ़ावा देने के लिए अन्य सामाजिक संस्थाओं को भी आगे आना चाहिए ताकि लोगों को कुछ राहत मिले सकेगी.