मप्र में बीजेपी ने अटल बिहारी के भांजे सहित 5 सांसदों के टिकट काटे, जानें किसे कहां से मिला मौका

इस बार भोपाल, इंदौर, ग्‍वालियर और विदिशा जैसी सीटों पर भी चेहरे बदले जाने हैं. ये सीटें बीजेपी के प्रभाव वाली मानी जाती हैं.

मप्र में बीजेपी ने अटल बिहारी के भांजे सहित 5 सांसदों के टिकट काटे, जानें किसे कहां से मिला मौका
मध्‍यप्रदेश में 29 सीटें हैं. इनमें से 26 पर बीजेपी का कब्‍जा है. फोटो : एएनआई

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) द्वारा शनिवार शाम जारी 48 उम्मीदवारों की सूची में मध्य प्रदेश के 15 उम्मीदवारों के नाम हैं. भाजपा ने वर्तमान पांच सांसदों के टिकट काटे हैं, जिसमें पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के भांजे अनूप मिश्रा भी शामिल हैं. बीजेपी द्वारा जारी उम्मीदवारों की सूची में ग्वालियर से सांसद और केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर को मुरैना से उम्मीदवार बनाया गया है. वर्तमान में मुरैना से सांसद अनूप मिश्रा हैं. इसके अलावा भाजपा ने भिंड से भागीरथ प्रसाद, शहडोल से ज्ञान सिंह, उज्जैन से चिंतामन मालवीय और बैतूल से ज्योति धुर्वे का टिकट काटा है.

भाजपा ने भिंड से संध्या राय, टीकमगढ़ से मंत्री वीरेंद्र खटीक, दमोह से प्रहलाद पटेल, सतना से गणेश सिंह, रीवा से जनार्दन मिश्रा, सीधी से रीति पाठक, शहडोल से हिमाद्री सिंह, जबलपुर से राकेश सिंह, मंडला से फग्गन सिंह कुलस्ते, होशंगाबाद से राव उदय प्रताप सिंह, उज्जैन से अनिल फिरौजिया, मंदसौर से सुधीर गुप्ता, खंडवा से नंदकुमार सिंह चौहान और बैतूल से दुर्गादास उईके को उम्मीदवार बनाया है.

भाजपा ने शहडोल संसदीय क्षेत्र से हिमाद्री सिंह को उम्मीदवार बनाया है. हिमाद्री दो दिन पहले ही कांग्रेस से भाजपा में शामिल हुई थीं. हिमाद्री के पति नरेंद्र मरावी भाजपा नेता हैं. बता दें कि राज्य में लोकसभा की 29 सीटें हैं, जिसमें से अभी 26 पर भाजपा और तीन पर कांग्रेस का कब्जा है. पिछले लोकसभा चुनाव में कांग्रेस ने दो सीटें जीती थी, बाद में रतलाम संसदीय क्षेत्र के उपचुनाव में कांग्रेस को जीत मिली थी.

14 सीटों में से कई और पर भी चेहरे बदलेंगे
मध्‍यप्रदेश में अब बीजेपी की ओर से घोषित होने वाली दूसरी सीटों पर भी ज्‍यादातर पर चेहरा बदलना तय है. विदिशा से सुषमा स्‍वराज की जगह पार्टी को दूसरा चेहरा लाना पड़ेगा. वह चुनाव लड़ने से मना कर चुकी हैं. झाबुआ रतलाम सीट से पहले दिलीप सिंह भूरिया चुनाव लड़े थे. उनका निधन हो चुका है. ग्‍वालियर से लड़ने वाले नरेंद्र सिंह मुरैना चले गए हैं. भोपाल से भी बीजेपी का नया चेहरा ही होगा. इंदौर से अगर सुमित्रा महाजन को टिकट नहीं मिला तो वहां से भी कैलाश विजयवर्गीय को टिकट मिल सकता है.

किसे कहां से मिला टिकट
भिंड        संध्या राय
मुरैना       नरेंद्र सिंह तोमर
टीकमगढ़    वीरेंद्र खटीक
दमोह       प्रहलाद पटेल
सतना       गणेश सिंह
रीवा        जनार्दन मिश्रा
सीधी       रीति पाठक
शहडोल      हिमाद्री सिंह
जबलपुर     राकेश सिंह
मंडला       फग्गन सिंह कुलस्ते
होशंगाबाद    राव उदय प्रताप सिंह
उज्जैन      अनिल फिरौजिया
मंदसौर      सुधीर गुप्ता
खंडवा       नंदकुमार सिंह चौहान
बैतूल       दुर्गादास उईके