close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

यूपी में BJP को प्रचंड जीत दिलाने में की थी मदद, लोकसभा के रण को लेकर की ये भविष्यवाणी

बीजेपी के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि बीजेपी लोकसभा चुनाव हारने जा रही है. ओमप्रकाश राजभर ने बलिया के मीरगंज प्राथमिक विद्यालय में अपने पूरे परिवार के साथ मतदान किया. उन्होंने कहा कि पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी (सपा) - बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन को भारी जीत मिलेगी.

यूपी में BJP को प्रचंड जीत दिलाने में की थी मदद, लोकसभा के रण को लेकर की ये भविष्यवाणी
ओम प्रकाश लगातार बीजेपी पर आक्रामक बने हुए हैं.

बलिया: उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को मिली प्रचंड जीत में अहम रोल निभाने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष और योगी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर ने लोकसभा चुनाव को लेकर बिल्कुल उलट भविष्यवाणी की है. रविवार को बीजेपी के प्रति नाराजगी जाहिर करते हुए ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि बीजेपी लोकसभा चुनाव हारने जा रही है. ओमप्रकाश राजभर ने बलिया के मीरगंज प्राथमिक विद्यालय में अपने पूरे परिवार के साथ मतदान किया. उन्होंने कहा कि पूर्वांचल में समाजवादी पार्टी (सपा) - बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के गठबंधन को भारी जीत मिलेगी.

किसी भी दल को बहुमत नहीं मिलेगा
ओमप्रकाश राजभर ने कहा, 'इस बार किसी भी दल को देश में पूरा बहुमत नहीं मिलेगा. लेकिन पूर्वांचल में सपा-बसपा के गठबंधन को भारी जीत मिलेगी. पूर्वाचल की कम से कम 30 सीटों पर हमारा साथ न मिलने से बीजेपी को प्रभाव पड़ेगा. गोरखपुर, गाजीपुर और बलिया सीट बीजेपी हार रही है.'

बीजेपी यूपी में केवल 15 सीटें जीतेगी
राजभर ने दावा किया कि प्रदेश से बीजेपी को सिर्फ 15 सीटें मिलेंगी. सपा-बसपा गठबंधन को 55 से 60 सीटें हासिल होंगी. उन्होंने कहा कि कांग्रेस के खाते में ढाई सीट ही आएगी. इससे पहले भी ओमप्रकाश राजभर ने भविष्यवाणी करते हुए कहा था कि इस बार दिल्ली की कुर्सी पर एक दलित की बेटी बैठेगी.

'मैंने सीएम योगी को इस्तीफा भेज दिया है'
उन्होंने कहा, 'हम बीजेपी को वोट नहीं दिलाएंगे. मैं एक घोसी की सीट मांग रहा था, लेकिन हमें नहीं दी गई. देश के चुनाव में हम उनके साथ नहीं हैं.' सपा-बसपा गठबंधन में जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीति में विकल्प हमेशा खुले रहते हैं. सुभासपा की बढ़ती ताकत से बीजेपी चिंतित रही है. उन्होंने कहा, 'मैंने मंत्री पद छोड़ दिया है. मैंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने कहा कि इस्तीफा स्वीकार करना या नहीं करना राष्ट्रीय अध्यक्ष का विषय है.'

इनपुट: IANS