close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बेटे नकुलनाथ को लेकर CM कमलनाथ ने कही बड़ी बात- अगर काम ना करे तो उसके कपड़े फाड़ देना

सेवा करने का जिम्मा अपने बेटे को सौंपा है ताकि वह मध्यप्रदेश के लिए काम कर सके. उन्होंने कहा, ‘‘मैं आज जहां हूं वहां इसलिए हूं क्योंकि आपने मुझे प्यार और ताकत दी है.’ 

बेटे नकुलनाथ को लेकर CM कमलनाथ ने कही बड़ी बात- अगर काम ना करे तो उसके कपड़े फाड़ देना
मुख्यमंत्री कमलनाथ (फाइल फोटो)

छिंदवाडा: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने अपने बेटे नकुल के पक्ष में यहां चुनाव प्रचार करते हुए कहा कि अगर उनका बेटा काम नहीं करे तो लोग उसके कपड़े फाड़ दें.  कमलनाथ ने क्षेत्र से अपने 40 साल के जुड़ाव का जिक्र करते हुए कहा कि अब उन्होंने छिंदवाड़ा की जनता की सेवा करने का जिम्मा अपने बेटे को सौंपा है ताकि वह मध्यप्रदेश के लिए काम कर सके. उन्होंने कहा, ‘‘मैं आज जहां हूं वहां इसलिए हूं क्योंकि आपने मुझे प्यार और ताकत दी है.’

ई-टेंडरिंग घोटाले की जांच पर बोले CM कमलनाथ- हम सच्चाई सामने ला रहे हैं तो हंगामा क्यों हो रहा है?

वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने स्थानीय लोगों से कहा , ''नकुल आज यहां नहीं है लेकिन वह आपकी सेवा करेगा. मैंने उसे यह जिम्मेदारी दी है. अगर वह काम नहीं करे तो उसे सजा दें और उसके कपड़े फाड़ दें.'' कांग्रेस नेता छिंदवाड़ा मुख्यालय से कम से कम 65 किलोमीटर दूर धनोरा गांव में बोल रहे थे. यह क्षेत्र अमरवाड़ा लोकसभा क्षेत्र के तहत आता है और छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय से करीब 65 किमी दूर है. कमलनाथ ने कहा, ''हम नयी यात्रा की शुरुआत करेंगे और इतिहास रचेंगे.'' गौरतलब है कि कमलनाथ इस लोकसभा क्षेत्र से सबसे लंबे समय तक, नौ बार सांसद रहे हैं लेकिन अब उन्होंने अपने बेटे के लिए यह सीट छोड़ दी है. 

PM मोदी ने गुजरातवासियों के प्रति जताई संवेदना, कमलनाथ बोले- 'आप पूरे देश के पीएम हैं'

फिलहाल कमलनाथ छिंदवाड़ा विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ रहे हैं. नियमों के अनुसार, राज्य सरकार चलाने के लिए उनका विधानसभा का सदस्य होना जरूरी है. कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मप्र के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर लोगों को गुमराह करने का आरोप भी लगाया.'' छिंदवाड़ा में 29 अप्रैल को मतदान होगा. पिछले लोकसभा चुनाव में मध्यप्रदेश में भाजपा ने 26 सीटें और कांग्रेस ने तीन सीटें जीती थीं. (इनपुटः भाषा)