• 542/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    354बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    89कांग्रेस+

  • अन्य

    99अन्य

VIDEO: CM योगी बोले, 'महागठबंधन को 'अली' पर विश्वास है, तो हमें 'बजरंगबली' पर'

सीएम योगी ने कहा कि जिस तरह बीएसपी प्रमुख ने मुस्लिमों के लिए वोट मांगे हैं. मुस्लिमों से कहा है कि वे सिर्फ गठबंधन के लिए वोट करें और अपना वोट बंटने न दें. अब हिंदुओं के पास भारतीय जनता पार्टी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है. 

VIDEO: CM योगी बोले, 'महागठबंधन को 'अली' पर विश्वास है, तो हमें 'बजरंगबली' पर'
मेरठ में एत चुनावी रैली के दौरान सीएम योगी ने ये बयान दिया. (फाइल फोटो)

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार फिर से अली-बजरंगबली को लेकर बड़ा बयान दिया हैं. सीएम योगी ने मेरठ में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस-बीएसपी-एसपी महागठबंधन को 'अली' पर विश्वास है, तो हमें भी 'बजरंगबली' पर विश्वास है. महागठबंधन और कांग्रेस पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि दूसरे दलों ने ये मान चुके हैं, कि बजरंगबली के अनुयायी उन्हें वोट नहीं देंगे. 

खत्म होना चाहिए हरा वायरस
मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि ये वे लोग (महागठबंधन) हैं, जो मुस्लिम लीग जैसे हरे वायरस के साथ मिलकर देश को बर्बाद करना चाहते हैं. अब समय आ गया है कि इस हरे वायरस को सदैव के लिए खत्म किया जाना चाहिए.

हिंदुओं के पास नहीं हैं विकल्प
सीएम योगी ने कहा कि जिस तरह बीएसपी प्रमुख मायावती ने मुस्लिमों के लिए वोट मांगे हैं. मुस्लिमों से कहा है कि वे सिर्फ गठबंधन के लिए वोट करें और अपना वोट बंटने न दें. अब हिंदुओं के पास भारतीय जनता पार्टी के अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है. 

 

मायावती ने की थी ये अपील
उल्लेखनीय है कि मायावती ने देवबंद में गठबंधन की संयुक्त रैली में कहा था कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हर समुदाय के लोग रहते हैं. सहारनपुर, बरेली में मुसलमानों की आबादी काफी अधिक है. 'मैं उनसे कहना चाहती हूं कि वे कांग्रेस को वोट देकर अपना वोट बंटने न दें. अपना वोट सपा-बसपा-रालोद गठबंधन को दें.  

पहले भी दिया था ऐसा बयान 
ऐसा पहली बार नहीं है कि सीएम योगी ने अली और बजरंगबली को लेकर कोई बयानबाजी की हो. इससे पहले उन्होंने मध्यप्रदेश और राजस्थान में हुए विधानसभा के चुनाव में बजरंगबली को लेकर बयान दिए थे. आपको बता दें कि हाल ही में गाजियाबाद में एक चुनावी रैली के दौरान उन्होंने भारतीय सेना को 'PM मोदी की सेना' कह दिया था, जिसके बाद वो सुर्खियों में आ गए थे.