चुनाव में विवादित बोल की दौड़ में इस बीजेपी विधायक ने बापू तक को नहीं छोड़ा

 कुंवर चैंपियन ने कहा कि राष्ट्रपिता का दर्जा महात्मा गांधी को नहीं बल्कि बाबा साहब डॉ. भीम राव आंबेडकर को दिया जाना चाहिए था.

चुनाव में विवादित बोल की दौड़ में इस बीजेपी विधायक ने बापू तक को नहीं छोड़ा
विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन साल 2016 में उन 10 विधायकों में शामिल थे, जो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए

देहरादून: हरिद्वार के खानपुर से विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन एक बार फिर से अपने विवादित बयान के कारण सुर्खियों में है. विधायक कुंवर प्रणव सिंह चैंपियन ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और जवाहरलाल नेहरू पर टिप्पणी की और डॉ. भीमराव आंबेडकर को राष्ट्रपिता का दर्जा देने की मांग की. 

महात्मा गांधी पर साधा निशाना
एक कार्यक्रम में विवादित बयान दे दिया. कुंवर चैंपियन ने कहा कि राष्ट्रपिता का दर्जा महात्मा गांधी को नहीं बल्कि बाबा साहब डॉ. भीम राव आंबेडकर को दिया जाना चाहिए था. उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी के लिए उन्होंने अहंकार, षड्यंत्र, संकीर्ण मानसिकता जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया और कहा कि भारत को आजादी चरखे से नहीं मिली. उन्होंने कहा महात्मा गांधी ने षड्यंत्र किया और जवाहर लाल नेहरू जैसे अकर्मण्य व्यक्ति को पीएम बनाया. 

 

नेहरू को PM बनाना सबसे बड़ी गलती
विधायक कुंवर प्रणव सिंह ने कहा कि महात्मा गांधी ने जवाहरलाल नेहरू जैसे व्यक्ति को प्रधानमंत्री बना कर सबसे बड़ी गलती की थी. उन्होंने कहा कि यदि मोहम्मद अली जिन्ना को प्रधानमंत्री बना देते तो पाकिस्तान बनता ही नहीं, इसलिए नोट पर से महात्मा गांधी की फोटो हटाकर बाबा साहेब की फोटो लगा देनी चाहिए. 

कांग्रेस से बीजेपी में हुए थे शामिल
आपको बता दें कि विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन साल 2016 में उन 10 विधायकों में शामिल थे, जो कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुए. साल 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने उन्हें टिकट दिया और वह चुनाव जीतकर विधायक भी बने.