मतदान से 2 दिन पहले MP में BJP को बड़ा झटका, पूर्व विधायक कांग्रेस में शामिल

इस दौरान सुरेश पचौरी, पीसी शर्मा और आरिफ अकील भी दिग्विजय सिंह के साथ मौजूद थे. बता दें सिर्फ डागा ही नहीं उनके बेटे ने भी अनुज डागा ने भी कांग्रेस की सदस्यता ली है.

मतदान से 2 दिन पहले MP में BJP को बड़ा झटका, पूर्व विधायक कांग्रेस में शामिल
भोपाल के हुजूर विधानसभा क्षेत्र से विधायक रह चुके हैं मन्नू डागा (फोटो साभारः facebook)

नई दिल्लीः मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव से ठीक 2 दिन पहले बीजेपी को बड़ा झटका लगा है, जहां राजधानी भोपाल के हुजूर विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक जितेंद्र उर्फ मन्नू डागा ने भारतीय जनता पार्टी का दामन छोड़ कांग्रेस का हाथ थाम लिया है. पूर्व विधायक मन्नू डागा ने कांग्रेस के दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता छोड़ कांग्रेस की सदस्यता ली है. इस दौरान सुरेश पचौरी, पीसी शर्मा और आरिफ अकील भी दिग्विजय सिंह के साथ मौजूद थे. बता दें सिर्फ डागा ही नहीं उनके बेटे ने भी अनुज डागा ने भी कांग्रेस की सदस्यता ली है.

मिली जानकारी के मुताबिक मन्नू डागा भोपाल लोकसभा सीट से टिकट मांग रहे थे, लेकिन साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को टिकट मिलने के बाद मन्नू डागा की इच्छाओं पर पानी फिर गया. ऐसे में वह काफी दिनों से पार्टी से काफी नाराज चल रहे थे, जिसके चलते पहले ही ऐसी खबरें आ चुकी थीं, कि वह जल्द ही पार्टी से इस्तीफा दे सकते हैं. बता दें मन्नू डागा की पिछले कई दिनों से कांग्रेस से बात चल रही थी, जिसके बाद आज उन्होंने बीजेपी की सदस्यता छोड़ कांग्रेस का साथ पकड़ लिया. मन्नू डागा अपने क्षेत्र के काफी लोकप्रिय नेता हैं, जिसके चलते कांग्रेस को कहीं न कहीं इसका फायदा होने की उम्मीद है.

साध्वी प्रज्ञा से मेरी तुलना मत करो, वह एक महान संत और मैं एक साधारण मूर्ख प्राणीः उमा भारती

वहीं बीजेपी छोड़ने पर डागा का कहना है कि, लोग उनसे पूछ रहे हैं कि प्रज्ञा को वोट क्यों दें. डागा का कहना था कि समर्थकों का उनपर भारी दबाव है और उन्होंने इस संबंध में विचार बना लिया है. डागा ने बताया कि उनके पास समर्थकों के सैकड़ों फोन आ रहे हैं. हर कोई पूछ रहा है कि प्रज्ञा को वोट क्यों दें. पार्टी ने प्रज्ञा को भोपाल का टिकट देकर जातिवाद फैलाने की कोशिश की है. ऐसे में हमें भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो जाना चाहिए.

PM मोदी पर दिग्‍व‍िजय के बिगड़े बोल, 'गूगल पर फेंकू लिखो तो किसका फोटो आता है....'

मध्यप्रदेश में कुल चार चरणों में चुनाव होने हैं. पहले चरण में 6 लोकसभा क्षेत्र सीधी, शहडोल, जबलपुर, बालाघाट, मण्डला और छिंदवाड़ा में 29 अप्रैल को मतदान होगा. पांचवे चरण में सात लोकसभा क्षेत्र टीकमगढ़, दमोह, सतना, रीवा, खजुराहो, होशंगाबाद और बैतूल लोकसभा क्षेत्र में छह मई को मतदान होना है. छठवें चरण में आठ संसदीय क्षेत्रों मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल और राजगढ़ में 12 मई मतदान तिथि है. सातवें और अंतिम चरण में आठ लोकसभा क्षेत्रों देवास, उज्जैन, इंदौर, धार, मंदसौर, रतलाम, खरगोन और खंडवा में 19 मई को मतदान होगा. मतगणना 23 मई को होगी.