close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हिमाचल प्रदेश में 37 उम्मीदवारों को इतने वोट भी नहीं मिल पाए, जिससे वो अपनी जमानत बचा पाते

सबसे ज्यादा मंडी में 15 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई. वहीं, हमीरपुर और कांगड़ा में नौ-नौ और शिमला से चार प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई. 

हिमाचल प्रदेश में 37 उम्मीदवारों को इतने वोट भी नहीं मिल पाए, जिससे वो अपनी जमानत बचा पाते
(फाइल फोटो)

शिमला : लोकसभा चुनाव परिणाम 2019 (Lok Sabha Elections Results 2019) हिमाचल प्रदेश में बसपा के चार प्रत्याशियों सहित 37 उम्मीदवारों की लोकसभा चुनाव 2019 में जमानत जब्त हो गई है. प्रदेश की चार लोकसभा सीटों पर कुल 45 उम्मीदवार मैदान में थे. इनमें से 37 प्रत्याशी अपनी 25,000 रुपये की जमानत राशि बचाने के लिए अनिवार्य 16.67 प्रतिशत वोट भी नहीं जुटा सके.

सबसे ज्यादा मंडी में 15 उम्मीदवारों की जमानत जब्त हुई. वहीं, हमीरपुर और कांगड़ा में नौ-नौ और शिमला से चार प्रत्याशियों की जमानत जब्त हुई. शिमला, हमीरपुर और कांगड़ा में बसपा प्रत्याशियों को नोटा से भी कम वोट मिले हैं.

उल्‍लेखनीय है कि हिमाचल प्रदेश की चारों लोकसभा सीटों पर सत्तारूढ़ भाजपा ने जीत दर्ज करते हुए 2014 आम चुनावों का अपना प्रदर्शन दोहराया है. इस पर्वतीय राज्य में कांग्रेस एक भी सीट हासिल नहीं कर सकी.

मंडी से मौजूदा सांसद रामस्वरूप ने कांग्रेस के आश्रय शर्मा को चार लाख 05 हजार 459 वोटों से हराया. 2014 में राम स्वरूप ने वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह को हराया था. कांगड़ा सीट पर, भाजपा के उम्मीदवार किशन कपूर ने जीत दर्ज की. उन्होंने कांग्रेस के निकटतम प्रतिद्वंद्वी पवन काजल को चार लाख 77 हजार 623 वोट के अंतर से मात दी.

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने लोकसभा चुनावों में भाजपा की अभूतपूर्व सफलता के लिए राज्य की जनता को धन्यवाद दिया. ठाकुर ने लोकसभा चुनावों में भारी जनादेश के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को बधाई भी दी.