close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस पार्टी से अलग हुआ था 'तृणमूल कांग्रेस' दल का गठन

तृणमूल कांग्रेस पार्टी (टीएमसी) का गठन ममत बनर्जी ने 1 जनवरी 1998 को किया था. 

पश्चिम बंगाल में कांग्रेस पार्टी से अलग हुआ था 'तृणमूल कांग्रेस' दल का गठन
टीएमसी पार्टी का गठन कांग्रेस के विघटन के बाद हुआ था.

नई दिल्लीः तृणमूल कांग्रेस पार्टी (टीएमसी) का गठन ममत बनर्जी ने 1 जनवरी 1998 को किया था. यह पश्चिम बंगाल की पार्टी है जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के विघटन के बाद बनाया गया. 26 वर्षों से भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के सदस्य होने के बाद, ममता बनर्जी ने बंगाल की अपनी पार्टी टीएमसी का गठन किया. पार्टी को जोरा घास फुल का चुनाव चिन्ह दिया गया.

ममता बनर्जी ने टीएमसी पार्टी की सूत्रधार थी. इसलिए उन्होंने इस पार्टी को पश्चिम बंगाल में बड़ी पार्टी बनाने में काफी मेहनत की. टीएमसी की राष्ट्रीय अध्यक्ष ममता बनर्जी हैं. यह वर्तमान में देश की चौथी सबसे बड़ी पार्टी है. जिसके सासंद लोकसभा में हैं.

2009 के आम चुनाव से पहले यह 19 सीटों के साथ लोकसभा में छठी सबसे बड़ी पार्टी थी. 2014 के आम चुनाव के बाद, वर्तमान में यह लोकसभा में चौथी सबसे बड़ी पार्टी है जिसमें 34 सीटें हैं. 

तृणमूल कांग्रेस द्वारा बंगाल में 2011 के विधानसभा चुनाव में जबरदस्त जीत हासिल की थी. जिसके बाद ममता बनर्जी पश्चिम बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी. 

वहीं, 2016 के विधानसभा चुनाव में भी टीएमसी ने अपनी जीत बरकरार रखी. 2 सितंबर 2016 को चुनाव आयोग ने टीएमसी को राष्ट्रीय राजनीतिक दल के रूप में मान्यता दे दी.