यूपी: कांग्रेस के कद्दावर नेता प्रमोद तिवारी और बाहुबली राजा भैया नजरबंद

वोटिंग के दौरान गड़बड़ी की आशंका के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी को प्रतापगढ़ में रविवार को नजरबंद कर दिया गया. प्रतापगढ़ में लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग हो रही है.

यूपी: कांग्रेस के कद्दावर नेता प्रमोद तिवारी और बाहुबली राजा भैया नजरबंद
प्रतापगढ़ इलाके में प्रमोद तिवारी और राजा भैया का दबदबा माना जाता है.

प्रतापगढ़: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok sabha elections 2019) में छठे चरण की वोटिंग हो रही है. देश के अलग-अलग राज्यों की 59 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. उत्तर प्रदेश में भी आठ सीटों पर वोटिंग हो रही है. वोटिंग के दौरान गड़बड़ी की आशंका के बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद प्रमोद तिवारी को प्रतापगढ़ में रविवार को नजरबंद कर दिया गया. प्रतापगढ़ में लोकसभा चुनाव के लिए वोटिंग हो रही है. निर्दलीय विधायक राजा भैया और 12 अन्य को भी नजरबंद रखा गया है.

राजा भैया ने प्रतापगढ़ में चतुष्कोणीय मुकाबला बनाया
प्रमोद तिवारी, राजा भैया और अन्य को सिर्फ अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने के लिए घर से बाहर जाने की इजाजत होगी. प्रतापगढ़ में चुनाव के छठे चरण में मतदान हो रहा है और राजा भैया के जनसत्ता दल की मौजूदगी के कारण इस सीट पर मुकाबला चतुष्कोणीय हो गया है.

इस सीट पर कांग्रेस ने रत्ना सिंह, भाजपा ने संगम लाल गुप्ता को उम्मीदवार बनाया है, जबकि सपा-बसपा गठबंधन से अशोक त्रिपाठी और राजा भैया ने अक्षय प्रताप सिंह को उम्मीदवार बनाया है.

राजा भैया ने नजरबंद की घटना को अनुचित बताया
इस बीच राजा भैया ने कहा है कि उन्हें नजरबंद रखना अनुचित है, क्योंकि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के किसी भी नेता को नजरबंद नहीं किया गया है. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने कहा कि उन्होंने कभी कानून-व्यवस्था की स्थिति में दखल नहीं दिया है और उन्हें नजरबंद रखना अनुचित है.

यहां आपको बता दें कि पांचवे चरण की वोटिंग के दौरान भी कन्नौज लोकसभा सीट पर वोटिंग के दिन समाजवादी पार्टी (सपा) के नेताओं को नजरबंद कर दिया गया था, जिसे लेकर काफी सवाल उठे थे.