धर्मापुरी संसदीय क्षेत्र : BJP की सहयोगी PMK 2014 की जीत को बरकरार रख पाएगी?

2014 मेंPMK प्रत्याशी की जीत हुई थी. 2019 के चुनाव में DMK (कांग्रेस के साथ गठबंधन) ने डॉक्टर सेंथिल कुमार को, PMK (NDA का हिस्सा) ने अनबूमानी रामादोस को मैदान में उतारा है.

धर्मापुरी संसदीय क्षेत्र : BJP की सहयोगी PMK 2014 की जीत को बरकरार रख पाएगी?
तमिलनाडु में लोकसभा की 39 सीटें हैं, 2014 के चुनाव में 37 सीटों पर AIADMK की जीत हुई थी.

नई दिल्ली: धर्मापुरी तमिलनाडु की 39 लोकसभा सीटों में एक है. इस संसदीय क्षेत्र में विधानसभा की 6 सीटें हैं. पहली बार इस सीट पर 1977 में चुनाव हुआ था, जिसमें कांग्रेस प्रत्याशी की जीत हुई थी. इस सीट पर PMK (Pattali Makkal Katchi) का दबदबा रहा है. 1998 से 2009 तक इस पार्टी के प्रत्याशी की लगातार जीत हुई. 2009 के चुनाव में DMK प्रत्याशी की जीत हुई. 2014 में फिर से PMK प्रत्याशी की जीत हुई. 2019 के चुनाव में DMK ने डॉक्टर सेंथिल कुमार को, PMK (NDA का हिस्सा) ने अनबूमानी रामादोस को मैदान में उतारा है.

तमिलनाडु एक ऐसा राज्य है जहां नेशनल पार्टियों की नहीं, बल्कि क्षेत्रीय दलों का दबदबा रहा है. DMK और AIADMK यहां की दो प्रमुख क्षेत्रीय पार्टियां हैं. इस चुनाव में कांग्रेस DMK के साथ और BJP, AIADMK और PMK साथ मिलकर चुनाव लड़ रही हैं. कांग्रेस 9 सीटों पर और बीजेपी 5 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. दोनों की सहयोगी पार्टियां DMK और AIADMK भी केवल 20-20 सीटों पर चुनाव लड़ रही है. बाकी सीटों पर अन्य छोटी क्षेत्रीय पार्टियां चुनाव लड़ रही हैं. 2014 लोकसभा चुनाव में 39 सीटों में 37 सीटों पर तो केवल AIADMK की जीत हुई थी. एक सीट पर बीजेपी और एक सीट पर PMK की जीत हुई थी. दोनों पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ी थी. DMK का खाता भी नहीं खुल पाया था.

2014 चुनावी आंकड़ों के मुताबिक, इस सीट पर मतदाताओं की कुल संख्या 1358273 है. इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 696496 और महिला मतदाताओं की संख्या 661777 है. इस जिले में वनियार कम्युनिटी का वर्चस्व है. उनकी आबादी करीब 41 फीसदी है. दलितों की आबादी 21 फीसदी है. वेलाला गाउंडर्स की आबादी 16 फीसदी के आसपास है.