close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पाकिस्तान अगर हमारा पायलट नहीं लौटाता तो वह ‘कत्ल की रात’ होती : नरेंद्र मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि शरद पवार कहते हैं कि मुझे नहीं पता कि मोदी क्या करेंगे. अगर उन्हें नहीं पता कि मोदी कल क्या करेंगे तो इमरान खान को कैसे पता होगा? 

पाकिस्तान अगर हमारा पायलट नहीं लौटाता तो वह ‘कत्ल की रात’ होती : नरेंद्र मोदी
Lok Sabha Elections 2019 : पीएम मोदी ने गुजरात के पाटण में रैली की.

पाटण: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि अगर पाकिस्तान भारतीय पायलट अभिनंदन वर्धमान को नहीं लौटाता तो वह कत्ल की रात होती. उन्होंने गुजरात के पाटण में एक रैली में कहा कि प्रधानमंत्री की कुर्सी रहे या ना रहे, लेकिन उन्होंने फैसला किया है कि या तो वह जिंदा रहेंगे या आतंकवादी जिंदा बचेंगे.

पीएम मोदी ने कहा कि शरद पवार कहते हैं कि मुझे नहीं पता कि मोदी क्या करेंगे. अगर उन्हें नहीं पता कि मोदी कल क्या करेंगे तो इमरान खान को कैसे पता होगा? 

'गुजरात में सभी 26 सीटें मुझे दीजिए'
उन्होंने गुजरात की जनता से लोकसभा चुनाव की सभी 26 सीटों पर बीजेपी को जिताने की अपील करते हुए कहा, ‘मेरे गृह राज्य के लोगों का कर्तव्य है कि धरती के पुत्र की देखभाल करें, गुजरात में सभी 26 सीटें मुझे दीजिए.’

उन्होंने कहा, ‘मेरी सरकार सत्ता में वापस आएगी लेकिन अगर गुजरात ने बीजेपी को 26 सीटें नहीं दी तो 23 मई को टीवी पर चर्चा होगी कि ऐसा क्यों हुआ.’ 

'नामदारों ने हिन्दू आतंकवाद का नाम दे दिया'
पीएम मोदी ने 'हिन्दू आतंकवाद' का मुद्दा फिर उठाते हुए गंभीर आरोप लगाया और कहा कि कांग्रेस सरकार के शासनकाल में आतंकवादी हमले होते थे तो आतंकवादियों के खिलाफ नहीं बल्कि हिन्दुओं के खिलाफ कार्रवाई होती थी. जबकि पूरी दुनिया में हमारी संस्कृति पर कभी उंगलि नहीं उठी. मगर, नामदारों ने हिन्दू आतंकवाद का नाम दे दिया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि आज मोदी को इसलिए गालियां मिल रहीं हैं क्योंकि वह तुष्टीकरण की राजनीति के आगे घुटने टेकने वाला नहीं है. राष्ट्रद्रोह का कानून हटाने की बात करने वालों, भारत को गालियां देने वालों को खुली छूट नहीं दी जाएगी. ऐसे लोगों को देश माफ़ नहीं करेगा.

मोदी ने दावा किया कि पिछले दो चरणों में लोकसभा चुनाव का नतीजा तय हो चुका है. विपक्षियों की नींद उड़ चुकी है. उन्होंने मान लिया है कि जनता उनके साथ नहीं है. दो चरणों में हुए चुनाव के बाद सारे विरोधी हार का कारण ढूंढ़ने में लगे हैं.