• 449/542 लक्ष्य 272
  • बीजेपी+

    284बीजेपी+

  • कांग्रेस+

    102कांग्रेस+

  • अन्य

    63अन्य

चुनाव 2019: चंद्रशेखर की विरासत को 'बलिया' में क्या फिर से चुनौती दे पाएगी बीजेपी

बलिया लोकसभा सीट से दिग्गज नेता चंद्रशेखर ने कुल आठ बार जीत हासिल की थी. चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर इस सीट से 2007 और 2009 में सांसद रह चुके हैं.

चुनाव 2019: चंद्रशेखर की विरासत को 'बलिया' में क्या फिर से चुनौती दे पाएगी बीजेपी
बलिया संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) का सियारी रण अपने चरम पर है. यूपी में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के बाद से बलिया लोकसभा सीट पर बीजेपी और विपक्षी एकता की सीधी टक्कर होने के आसार नजर रहे हैं. स्वतंत्रता संग्राम के सेनानी मंगल पाण्डे की जन्मभूमि रही बलिया से लोकनायक जय प्रकाश नारायण और पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर राष्ट्रीय राजनीति में बड़े नाम रहे हैं. बलिया लोकसभा सीट पर पूर्व पीएम रहे चंद्रशेखर का कब्जा रहा. चंद्रशेखर के बाद उनके पुत्र ने इस सीट पर जीत दर्ज की थी. 2014 में मोदी लहर के चलते यह सीट पहली बार बीजेपी के खाते में चली गई थी.   

पूर्व पीएम चंद्रशेखर का रहा दबदबा
बलिया लोकसभा सीट के अंतर्गत जहूराबाद, बैरिया, फेफना, बलिया नगर और मोहम्मदाबाद विधानसभा सीटें आती हैं. 1952 में इस सीट पर पहली बार हुए चुनाव में निर्दलीय उम्‍मीदवार के तौर पर मुरली मनोहर ने जीत दर्ज की थी. वहीं, 1957 में कांग्रेस के राधा मोहन सिंह, 1962 में कांग्रेस के मुरली मनोहर और 1967-1971 में कांग्रेस के चंद्रिका प्रसाद ने दो बार जीत हासिल की थी. इस सीट से कांग्रेस ने 1984 में आखिरी बार चुनाव जीता था. बलिया लोकसभा सीट से दिग्गज नेता चंद्रशेखर ने कुल आठ बार जीत हासिल की थी. चंद्रशेखर के पुत्र नीरज शेखर इस सीट से 2007 और 2009 में सांसद रह चुके हैं.

 

 

2014 में ये रहा था जनादेश
2014 के आम चुनाव में बलिया लोकसभा सीट से बीजेपी की टिकट से पहली बार जीत दर्ज करते हुए भरत सिंह संसद पहुंचे. बीजेपी प्रत्याशी भरत सिंह ने सपा की टिकट पर लड़े चंद्रशेखर के बेटे नीरज शेखर को हराया था. भरत सिंह को चुनाव में 3,59,758 वोट हासिल हुए थे. वहीं, सपा के नीरज शेखर को 2,20,324 वोट मिले थे. बीजेपी प्रत्याशी ने दूसरे स्थान पर रहे सपा उम्मीदवार नीरज शेखर को 1,39,434 वोटों से शिकस्त दी थी. बलिया लोकसभा सीट से 1,63,943 वोटों के साथ अफजल अंसारी तीसरे नंबर पर रहे थे. 

सातवें चरण में होगा मतदान
बलिया लोकसभा सीट पर मतदाताओं की संख्या 17,68,271 है. इनमें से 9,73,384 पुरुष मतदाता और 7,94,830 महिला मतदाता हैं. उत्तर प्रदेश में सपा-बसपा-रालोद गठबंधन से एसपी के खाते में आई बलिया लोकसभा सीट पर सपा ने नीरज शेखर पर दांव लगाया है. इस सीट पर बीजेपी के शीर्ष नेतृत्व ने मौजूदा सांसद भरत सिंह पर फिर से भरोसा जताया है. वहीं, कांग्रेस को अभी तक उम्मीदवार तय नहीं कर पाई है. बलिया संसदीय सीट पर लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें और अंतिम चरण में 19 मई को मतदान होना है. बलिया लोकसभा सीट पर रोमांचक मुकाबला होने की प्रबल संभावना है.