close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मायावती ने कसा तंज, कहा- 'अच्छे दिनों को भूल, राष्ट्रवाद पर ताल क्यों ठोक रही है BJP'

मायावती ने कहा कि जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव नहीं कराना मोदी सरकार की कश्मीर नीति की विफलता का द्योतक है.

मायावती ने कसा तंज, कहा- 'अच्छे दिनों को भूल, राष्ट्रवाद पर ताल क्यों ठोक रही है BJP'
मायावती की फाइल फोटो.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा का जहां, बसपा ने स्वागत किया है. वहीं, केंद्र की भाजपा सरकार पर हमला भी बोला है. उन्होंने कहा कि भाजपा की जनता से किए गए लुभावने वादों की सच्चाई सामने आ गई है. उन्होंने एक ट्वीट करते हुए कहा कि भाजपा राष्ट्रवाद और राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर लोकसभा चुनाव लड़ने का ताल ठोक रही है. भाजपा जो चाहे करे, लेकिन पहले करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों, बेरोजगारों आदि को बताए कि अच्छे दिन आने और अन्य लुभावने चुनावी वायदों का क्या हुआ? क्या हवा-हवाई विकास हवा खाने गया? 

एक अन्य ट्वीट करते हुए बसपा सुप्रीमो ने जम्मू कश्मीर में लोकसभा चुनाव के साथ विधानसभा चुनाव नहीं कराए जाने से साबित हो गया है कि मोदी सरकार की कश्मीर नीति विफल रही है. मायावती ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि जम्मू-कश्मीर में विधानसभा चुनाव लोकसभा चुनाव के साथ नहीं कराना मोदी सरकार की कश्मीर नीति की विफलता का द्योतक है. जो सुरक्षा बल लोकसभा चुनाव करा सकते हैं, वही उसी दिन वहां विधानसभा का चुनाव क्यों नहीं करा सकते हैं? केन्द्र का तर्क बेतुका है और भाजपा का बहाना बचकाना है.

 

उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग ने रविवार (10 मार्च) को चुनाव कार्यक्रम घोषित कर जम्मू कश्मीर में सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए लोकसभा के साथ विधानसभा चुनाव नहीं कराने का फैसला किया है.

 

वहीं, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, ओडिशा और सिक्किम में लोकसभा चुनाव के साथ ही विधानसभा चुनाव कराए जायेंगे. विपक्षी दलों ने आयोग पर सरकार के दबाव में जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव नहीं कराने का आरोप लगाया है.