close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अनंतपुर में रिकॉर्ड 82.22% मतदान, क्या टीडीपी बचा पाएगी अपनी सीट

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरन में अनंतपुर में इस बार रिकॉर्ड 82.22 फीसदी मतदान हुआ है. चुनाव आयोग ने यहां विशेष अभियान चलाया था जिसका असर देखने को मिला है. अनंतपुर सीट पर फिलहाल टीडीपी का कब्जा है. 

अनंतपुर में रिकॉर्ड 82.22% मतदान, क्या टीडीपी बचा पाएगी अपनी सीट

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के पहले चरन में अनंतपुर में इस बार रिकॉर्ड 82.22 फीसदी मतदान हुआ है. चुनाव आयोग ने यहां विशेष अभियान चलाया था जिसका असर देखने को मिला है. अनंतपुर सीट पर फिलहाल टीडीपी का कब्जा है. देखना होगा कि क्या टीडीपी अपनी सीट बचा पाती है या नहीं. अनंतपुर लोकसभा सीट आंध्रप्रदेश की अहम सीट है. 

इस बार टीडीपी ने अपने मौजूदा सांसद जेसी दिवाकर रेड्डी के बेटे जेसी पवन रेड्डी को मैदान में उतारा है. वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार पीडी रंगय्या (तलारी रंगय्या)  हाथ आजमा रहे हैं. पवन के सामने अपने पिता की विरासत को बचाने की चुनौती है. कांग्रेस ने कुचम राजीव रेड्डी को मैदान में उतारा है. वहीं बीजेपी की ओर से हमसा देविनेनी पर कमल खिलाने की जिम्मेदारी है. 

अनंतपुर लोकसभा सीट में सात विधानसभा सीटें हैं. 2011 की जनगणना के मुताबिक, अनंतपुर की कुल आबादी 4,083,315 है. यह आर्थिक रूप से पिछड़ा क्षेत्र है. 2014 के चुनाव में टीडीपी के जेसी दिवाकर रेड्डी ने इस सीट से जीत हासिल की थी. इस बार टीडीपी के सामने इस सीट पर कब्जा बनाए रखने की चुनौती है. 2014 में मुकाबला टीडीपी और वाईएसआर कांग्रेस के बीच था. हालांकि बाजी टीडीपी ने मारी थी लेकिन जीत का अंतर 61269 मतों का रहा था. 

 

2004, 2009 में कांग्रेस ने लहराया परचम 
2004 और 2009 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर मतदाताओं का साथ कांग्रेस को मिला था. कांग्रेस के वेंकटरमानी रेड्डी लगातार दो बार इस सीट पर सांसद रहे. 2014 में कांग्रेस ने तीसरी बार वेंकटरमानी पर भरोसा जताया और चुनाव मैदान में उतारा लेकिन वह चुनाव हार गए. कांग्रेस तीसरे नंबर पर रही. दूसरे नंबर पर वाईएसआर रही. वाईएसआर ने कड़ी टक्कर दी थी.