दरभंगा से महागठबंधन के उम्‍मीदवार ने कहा-भारत माता की जय बोलने से परहेज नहीं, वंदे मातरम बोलने में परेशानी

बिहार में महागठबंधन के उम्‍मीदवार अब्‍दुल बारी सिद्दीकी ने कहा है कि भारत माता की जय बोलने से किसी को परहेज नहीं है, लेकिन वंदे मातरम बोलने में दिक्‍कत है.

दरभंगा से महागठबंधन के उम्‍मीदवार ने कहा-भारत माता की जय बोलने से परहेज नहीं, वंदे मातरम बोलने में परेशानी

दरभंगा: लोकसभा चुनाव 2019 का चुनाव प्रचार चरम पर पहुंच चुका है. 2 चरणों के चुनाव हो चुके हैं. तीसरे चरण के लिए 23 अप्रैल को वोटिंग होगी. चुनाव प्रचार में विवादित बयानों का सिलसिला भी जारी है. बिहार में महागठबंधन के उम्‍मीदवार अब्‍दुल बारी सिद्दीकी ने कहा है कि भारत माता की जय बोलने से किसी को परहेज नहीं है, लेकिन वंदे मातरम बोलने में दिक्‍कत है. जाहिर है अब्‍दुल बारी सिद्दीकी का ये बयान आने वाले दिनों में सियासी पारी और चढ़ा सकता है.

 

बिहार की दरभंगा लोकसभा सीट से महागठबंधन के प्रत्याशी अब्‍दुल बारी सिद्दीकी हैं. उन्‍होंने कहा कि भारत माता की जय बोलने से किसी को परहेज नहीं, लेकिन वंदेमातरम बोलने में परेशानी है. बिहार के अररिया में प्रधानमंत्री के सवालों का जबाब देते हुए राजद के वरि‍ष्‍ठ मुस्लिम नेता अब्दुल बारी सिदिक्की ने कहा कि नाथुनराम गोडसे देश का पहला आतंकवादी था.

शरद पवार ने कहा, 'मैं बहुत डरा हुआ हूं, कोई नहीं जानता मोदी क्या करेंगे'

उन्‍होंने चुनौती देते हुए कहा पीएम मोदी या बीजेपी नाथूराम गोडसे मुर्दाबाद बोलेगी. बिहार की जनता धर्म के आधार पर वोट नहीं देती. मोदी देश की प्रधानमंत्री के लायक आदमी नहीं हैं और न ही पीएम पद के अनुसार उनकी बोली है.

अब्‍दुल बारी सिद्दीकी अपने भाषण के दौरान वंदेमातरम नहीं बोलने वालों के साथ खड़े दिखे. सिद्दीकी ने कहा भारत माता की जय बोलने से किसी को परहेज नहीं लेकिन वंदेमातरम बोलने में परेशानी है.