close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

लोकसभा में सौतली मां हेमा मालिनी के साथ नहीं बैठेंगे सन्नी देओल

हेडिंग में आपने पढ़ा की एक्टर सन्नी देओल सौतेली मां हेमा मालिनी के साथ संसद में साथ नहीं बैठेंगे. सौतेली मां का नाम आते ही जेहन में झगड़े और मनमुटाव की बात आती है, लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं है. धर्मेंद्र के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने बड़ी ही समझदारी से दोनों पत्नियों और परिवार की एकजुटता बनाए रखे हुए हैं.

लोकसभा में सौतली मां हेमा मालिनी के साथ नहीं बैठेंगे सन्नी देओल
धर्मेंद्र की पहली पत्नी से सन्नी देओल हुए हैं, वहीं हेमा मालिनी उनकी दूसरी पत्नी हैं.

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 में इस बार कई एक्टर और एक्ट्रेस ने जीत दर्ज की हैं. इनमें से हेमा मालिनी (Hema Malini) और सन्नी देओल भी हैं. हेमा मालिनी (Hema Malini) दिग्गज अभिनेता धर्मेंद्र के बड़े बेटे हैं तो हेमा मालिनी (Hema Malini) उनकी पत्नी हैं. हालांकि आपको बता दें कि सनी देओल (Sunny Deol) की सगी मां हेमा मालिनी (Hema Malini) नहीं हैं. हेडिंग में आपने पढ़ा की एक्टर सन्नी देओल सौतेली मां हेमा मालिनी (Hema Malini) के साथ संसद में साथ नहीं बैठेंगे. सौतेली मां का नाम आते ही जेहन में झगड़े और मनमुटाव की बात आती है, लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं है. धर्मेंद्र के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने बड़ी ही समझदारी से दोनों पत्नियों और परिवार की एकजुटता बनाए रखे हुए हैं.

दरअसल, सन्नी देओल पहली बार पंजाब के गुरुदासपुर से सांसद बने हैं और हेमा मालिनी (Hema Malini) दूसरी बार उत्तर प्रदेश मथुरा सीट से सांसद बनी हैं. इससे पहले हेमा मालिनी (Hema Malini) राज्यसभा में भी रह चुकी हैं. इस तरह वह वरिष्ठ संसद सदस्य हैं. लोकसभा की परंपरा के मुताबिक नए सांसदों के बैठने की व्यवस्था पीछे की पंक्ति में की जाती है, भले ही वह सत्ताधारी दल का क्यों ना हो. वहीं वरिष्ठ सांसदों को सम्मान देते हुए उनके आगे की पंक्ति में बैठने की व्यवस्था की जाती है. इस तरह हेमा मालिनी (Hema Malini) आगे की पंक्ति में तो उनके सौतेले बेटे धर्मेंद्र पीछे की पंक्ति में बैठेंगे.

उदाहरण के तौर पर अगर आपको 2014 के लोकसभा चुनाव के बाद संसद की स्थिति याद हो तो आपने देखा होगा कि समाजवादी पार्टी के केवल पांच सांसद जीतकर आए थे. यह पार्टी सत्ता में भी नहीं थी. इसके बावजूद मुलायम सिंह यादव को आगे की पंक्ति में बैठने की व्यवस्था की गई थी. वहीं उनकी सांसद बहू डिंपल यादव और भतीजे धर्मेंद्र यादव पीछे की पंक्ति में बैठते थे.

मालूम हो कि सन्नी देओल ने गुरुदासपुर सीट पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुनील जाखड़ को 82459 मतों से पराजित किया है. वहीं हेमा मालिनी (Hema Malini) ने राष्ट्रीय लोकदल के कुंवर नरेंद्र सिंह को 293471 मतों से पराजित की हैं. धर्मेंद्र की पहली पत्नी का नाम प्रकाश कौर है. प्रकाश कौर से धर्मेंद्र की तीन बच्चे अजय सिंह (सनी), विजय सिंह (बॉबी), विजेता और अजेता देओल हैं. हेमा मालिनी (Hema Malini) से धर्मेंद्र की दो बेटियां ईशा और अहाना हैं. धर्मेंद्र ने अपनी पहली पत्नी से तलाक लिए बगैर ही हेमा से शादी की थी। धर्मेंद्र ने प्रकाश से 1954 में 19 साल की उम्र में घरवालों की मर्जी से प्रकाश कौर से शादी की थीं.