close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

अल्मोड़ा लोकसभा सीट: फिर है टम्टा Vs टम्टा मुकाबला, कल मतदाता LOCK करेंगे LUCK

कांग्रेस के प्रदीप टम्टा और बीजेपी के अजय टम्टा लगातार पांचवी बार आमने-सामने होंगे. अब तक दिग्गज दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, जबकि तीसरी बार लोकसभा चुनाव में आमने-सामने खडे़ हैं. 

अल्मोड़ा लोकसभा सीट: फिर है टम्टा Vs टम्टा मुकाबला, कल मतदाता LOCK करेंगे LUCK
बीजेपी के अजय टम्टा और कांग्रेस के प्रदीप टम्टा की फाइल फोटो.

अल्मोड़ा: अल्मोड़ा में एक बार फिर मुकाबला टम्टा वर्सेस टम्टा होने जा रहा है. कांग्रेस के प्रदीप टम्टा और बीजेपी के अजय टम्टा लगातार पांचवी बार आमने-सामने होंगे. अब तक दिग्गज दो बार विधानसभा चुनाव लड़ चुके हैं, जबकि तीसरी बार लोकसभा चुनाव में आमने-सामने खडे़ हैं, जिसमें हार जीत के आंकड़ों के हिसाब से दोनों दिग्गजों का पलड़ा अभी तक बराबर रहा है.

आरक्षित सीट है अल्मोड़ा
आरक्षित सीट अल्मोड़ा में हर बार की तरह इस बार भी मुकाबला रोचक होने जा रहा है. कांग्रेस के प्रदीप टम्टा और बीजेपी के अजय टम्टा एक बार सीधी टक्कर देखी जा रही है. 

पहले भी दे चुके हैं एक-दूसरे को टक्कर
राज्य बनने के बाद पहली बार दोनों दिग्गजों के बीच 2002 में मुकाबला हुआ था. आरक्षित सीट सोमेश्वर विधानसभा में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने प्रदीप टम्टा को टिकट दिया था, जबकि बीजेपी से बगावत कर अजय टम्टा ने निर्दलीय चुनाव लड़ा. इस चुनाव में कांग्रेस के प्रदीप टम्टा ने बाजी मारी. जबकि 2007 में बीजेपी के अजय टम्टा ने विधानसभा चुनाव में प्रदीप टम्टा को हराकर हिसाब बराबर कर लिया था. साल 2009 में अल्मोड़ा लोकसभा सीट के आरक्षित होने के बाद अजय टम्टा और प्रदीप टम्टा आमने-सामने खड़े हुए, जिसमें प्रदीप टम्टा ने जीत दर्ज की. जबकि 2014 लोकसभा चुनाव में मोदी लहर में अजय टम्टा ने बड़ी जीत दर्ज कर हिसाब बराबर कर दिया. 

 

इतने मतदाता डालेंगे वोट
चार जिलों और 14 विधानसभा की लोकसभा सीट अल्मोड़ा में 13 लाख 21 हजार 658 मतदाता हैं, जिसमें 6 लाख 85 हजार 655 पुरूष मतदाता और 6 लाख 35 हजार 996 महिला और 7 अन्य मतदाता शामिल हैं. अल्मोड़ा जिले में सबसे अधिक 5 लाख 25 हजार 507 वोटर अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जबकि पिथौरागढ़ जिले में 3 लाख 68 हजार 673, बागेश्वर जनपद में 2 लाख 8 हजार 345 जबकि चम्पावत जिले में 1 लाख 91 हजार 179 मतदाता प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला 11 अप्रेल को करेंगे. 

2019 लोकसभा चुनाव में एक बार फिर दोनों चिर परिचित प्रतिद्वंदी एक बार फिर आमने-सामने हैं, अब देखना है कि इस बार कौन किसे चुनावी रण में पटकनी देगा.