close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टीएमसी के हिंसा में शामिल होने के सबूत दें पीएम मोदी, वरना जेल में डाल दूंगीः ममता

ममता ने कहा, 'प्रधानमंत्री यूपी की रैली में बोलते हैं कि हम ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति बनवा देंगे. हम तेरे पैसे थोड़ी लेंगे, बंगाल के पास पैसे हैं विद्यासागर की मूर्ति बनाने के लिए.'

टीएमसी के हिंसा में शामिल होने के सबूत दें पीएम मोदी, वरना जेल में डाल दूंगीः ममता
फोटो सौजन्य: ANI

कोलकाताः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने गुरुवार को राज्य के मथुरापुर में टीएमसपी की चुनावी रैली को संबोधित करते हुए एक बार फिर चुनाव आयोग और केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा. ममता बनर्जी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोलकाता में अमित शाह के रोड शो के दौरान हुई हिंसा में टीएमसपी के शामिल होने का सबूत दें वरना जेल में डाल देंगे.  

ममता बनर्जी ने कहा, 'चुनाव आयोग बीजेपी का ही एक और भाई है . पहले पहले पारदर्शी चुनाव आयोग देखती थी लेकिन भारत की जनता कह रही है कि चुनाव आयोग बीजेपी के सामने बिक गया है. मुझे दुःख होता है, लेकिन मैं कुछ नहीं कर सकती, इसके लिए बीजेपी मुझे जेल में डाल सकती है जिसके लिए मैं  तैयार हूं. सच बोलने से मैं कभी नहीं डरूंगी यही हमेशा से मेरी शिक्षा है.'

'ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति बंगाल खुद बना सकता है'
ममता बनर्जी ने कोलकता में अमित शाह के रोड शो के दौरान महान शिक्षाविद् ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ने जाने को लेकर भी बीजेपी पर निशाना साधा. ममता बनर्जी ने कहा, 'ये लोग कभी बाबा साहेब आंबेडकर की मूर्ति तोड़ दे रहे हैं मेरठ में, कभी त्रिपुरा में चुनाव के बाद मूर्ति दी थी, यह बीजेपी की आदत है. और परसो (मंगलवार) बंगाल में अमित शाह के नेतृत्व में ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ दी. हमें बीजेपी ने जो गुंडागर्दी की है उसका बदला लेना होगा. कोई इन्हे नहीं छोड़ेगा.'

'पीएम मोदी यूपी की चुनावी रैली में बोलते हैं कि हम विद्यासागर जी की मूर्ति बनवा देंगे, हम तेरे पैसे थोड़े लेंगे. बंगाल के पास पैसे हैं विद्यासागर की मूर्ति बनाने के लिए. 200 साल पुराना हेरिटेज है हमारा तुम लौटा पाओगे? जान लेकर जान वापस लौटा पाओगे? मेरे पास सरे वीडियो कॉपी हैं? और तुम कहते हो तृणमूल ने यह सब किया है? कान पकड़कर उठक बैठक करवाना चाहिए इस प्रधानमंत्री को एक बार नहीं लाख लाख बार झूठ बोलने के लिए.'

यह भी पढे़ंः पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री को निशाना बनाना प्रधानमंत्री को शोभा नहीं देता : मायावती

ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें बुधवार शाम को पता चला कि वह शुक्रवार को कोई रैली नहीं कर सकती हैं इसलिए उन्होंने शुक्रवार को होने वाले चुनावी कार्यक्रम आज की करने का फैसला किया. ममता बनर्जी ने कहा, 'कल के मेरे जितने भी रैली थे उसे आज ही करना होगा. यहां से डायमंड हार्बर जाउंगी, फिर बेहाला, तारतल्ला तक रैली करूंगी और फिर जाधवपुर के सुकांता सेतु से गरिआहात जाउंगी फिर भवानीपुर से रैली करुंगी. तो मेरी आज कुल 18-20 किलोमीटर रैली करूंगी. क्या कर सकती हूं, कुछ बदमाश और शैतान लोग, इन लोगों ने देश के अधिकार ले लिए हैं, किसी को भी मार देते हैं, अधिकार छीन लेते हैं, अत्याचार कर रहे हैं.' 

यह भी पढे़ंः ममता बनर्जी ने बांग्‍लादेश से आए लाखों घुसपैठियों को बंगाल में संरक्षण दिया : शिवसेना

ममता ने समर्थन करने वाले नेताओं का शुक्रिया अदा किया
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य में चुनाव प्रचार की अवधि कम करने के चुनाव आयोग के फैसले का विरोध करने के मुद्दे पर विपक्षी दलों के नेताओं के साथ आने के लिये उनका धन्यवाद दिया है. ममता ने ट्वीट किया,‘‘ हमारे तथा बंगाल की जनता के प्रति समर्थन और एकजुटता दिखाने के लिए मायावती, अखिलेश यादव, कांग्रेस, एन चंद्रबाबू नायडू तथा अन्य का शुक्रिया एवं आभार. भाजपा के निर्देश पर चुनाव आयोग का पक्षपातपूर्ण रवैया लोकतंत्र पर सीधा हमला है. जनता मुहतोड़ जवाब देगी.’’ 

गौरतलब है कि चुनाव आयोग ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के 9 लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव प्रचार गुरुवार रात 10 बजे समाप्त करने का आदेश दिया है. निर्धारित समयानुसार प्रचार एक दिन बाद शुक्रवार शाम समाप्त होना था. आयोग ने मंगलवार को कोलकाता में भाजपा तथा तृणमूल कांग्रेस के समर्थकों के बीच झड़पों के बाद यह फैसला किया है.

ममता ने चुनाव आयोग पर भाजपा के इशारे पर काम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि यह कदम असंवैधानिक और अनैतिक है.

(इनपुट एजेंसी भाषा से भी)