CBIvsWBPOLICE: कोलकाता में राजनीतिक उबाल, केंद्रीय मंत्री ने कहा- राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए

कोलकाता में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) टीम को पश्चिम बंगाल पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

CBIvsWBPOLICE: कोलकाता में राजनीतिक उबाल, केंद्रीय मंत्री ने कहा- राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार से पूछताछ करने पहुंची केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) टीम के 5 सदस्यों को राज्य पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. इस राजनीतिक और प्रशासनिक ड्रामे को लेकर बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस सीधे तौर पर आमने-सामने आ गए हैं. केंद्रीय राज्य मंत्री बाबुल सुप्रियो ने कहा, ''एक भ्रष्ट सीएम ममता बनर्जी की इस 'दुष्ट सरकार को नियंत्रित करने के लिए पश्चिम बंगाल में राष्ट्रपति शासन लगाया जाना चाहिए. अपने भ्रष्ट और बिगड़े हुए साथियों को बचाने के लिए ममता ने एक संवैधानिक संकट पैदा कर दिया है.''

लोकतंत्र खत्म
बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने ममता बनर्जी सरकार पर हमला करते हुए कहा, ''पश्चिम बंगाल में लोकतंत्र खत्म हो गया है. सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जांच कर रही थी, लेकिन उसे इसकी अनुमति नहीं दी गई. सीबीआई अधिकारियों को हिरासत में लिया गया, आजादी के बाद ऐसा पहली बार हुआ है. हम इसकी निंदा करते हैं.''

तख्तापलट की योजना
टीएमसी सांसद डेरेक ओ ब्रायन ने कहा, ''बीजेपी संवैधानिक तख्तापलट की योजना बना रही है? सीबीआई के 40 अधिकारियों ने कोलकाता पुलिस कमिश्नर के घर को घेर लिया. ऐसा करके ये लोग संवैधानिक संस्थाओं का विनाश करने पर तुले हैं. जो विपक्षी दल चाहते हैं कि मोदी को जाना चाहिए, हम उन सभी के साथ सोमवार को संसद में पहुंच रहे हैं.''

केजरीवाल का बयान
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का इस मामले को लेकर कहना है, ''मोदी जी ने लोकतंत्र और संघीय ढांचे का पूरा मखौल बनाया है. कुछ साल पहले, मोदी जी ने अर्धसैनिक बलों को भेजकर दिल्ली सरकार की एंटी करप्शन ब्रांच पर कब्जा कर लिया और अब यह. मोदी-शाह की जोड़ी भारत और उसके लोकतंत्र के लिए खतरा है. हम इस कार्रवाई की कड़ी निंदा करते हैं.''

तेजस्वी यादव का ट्वीट
बिहार के पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने ट्वीट किया है, ''बीते कुछ महीनों में CBI पर BJP दफ्तर के दवाब में लिए गए राजनीतिक निर्णयों के कारण राज्य सरकारों को ऐसा निर्णय लेना पड़ेगा. अगर अब भी CBI भाजपा के गठबंधन सहयोगी की तरह कार्यरत रही तो किसी दिन न्यायप्रिय आम अवाम अपने तरीक़े से इनका हिसाब ना कर दे. लोकतंत्र में जनता से बड़ा कोई नहीं.''

Twitter पर आरोप-प्रत्यारोप
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने रविवार को आरोप लगाया कि 'भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का सर्वोच्च नेतृत्व' बुरी तरह से राजनीतिक बदले की भावना से काम कर रहा है. ममता ने यह भी आरोप लगाया कि वे पुलिस को कब्जे में करने व सभी संस्थानों को बर्बाद करने के लिए सत्ता का दुरुपयोग कर रहे हैं. ममता ने एक श्रंखलाबद्ध ट्वीट में कहा, "भाजपा का शीर्ष नेतृत्व राजनीतिक बदले की ओछी भावना से काम कर रहा है. न सिर्फ राजनीतिक दल उनके निशाने पर हैं, बल्कि पुलिस को नियंत्रण में लेने और संस्थानों को बर्बाद करने के लिए वे सत्ता का दुरुपयोग कर रहे हैं. हम इसकी निंदा करते हैं."

ममता ने लिया कमिश्नर का पक्ष
ममता बनर्जी ने राजीव कुमार की सराहना करते हुए कहा कि कोलकाता पुलिस आयुक्त दुनिया के एक सर्वश्रेष्ठ (अधिकारी) हैं. ममता ने ट्वीट किया, "उनकी ईमानदारी व बहादुरी निर्विवाद है. वह हर वक्त काम में जुटे रहते हैं और हाल ही में उन्होंने सिर्फ एक दिन की छुट्टी ली है. जब आप झूठ फैलाते हैं तो झूठ हमेशा झूठ ही रहेगा."

BJP का हमला
इसके जवाब में कैलाश विजयवर्गीय ने लिखा,  ''कुछ तो बात है! कहीं इन कमिश्नर साहब ने तो आपके एवं आपकी पार्टी द्वारा किये गए 40000 करोड़ के चिटफंड घोटाले की फाइलों को दबाने में मदद तो नहीं की है? बिना कारण के CBI जैसी उच्चराष्ट्रीय संस्था की कार्यवाही के चलते इन साहब को ईमानदारी का सर्टिफिकेट देने की क्या जरूरत आन पड़ी?''