Lunar Eclipse 2019 : 21 जनवरी को दिखाई देगा साल का पहला चन्द्र ग्रहण, जानें इसकी खास बातें

माना जा रहा है कि चन्द्र ग्रहण के दौरान पूरा आकाश लाल रंग का चमक उठेगा और इस पूरी प्रक्रिया को नासा ने मोस्ट डैजलिंग शो यानी सबसे चमकदार शो का नाम दिया है

Lunar Eclipse 2019 : 21 जनवरी को दिखाई देगा साल का पहला चन्द्र ग्रहण, जानें इसकी खास बातें
इस चन्द्र ग्रहण में रोज की अपेक्षा 30 प्रतिशत ज्यादा रोशनी से चमकेगा चन्द्रमा.(फाइल फोटो)

नई दिल्लीः साल का पहला चन्द्र ग्रहण 21 जनवरी को यानी कल सोमवार को दिखाई देगा. इससे पहले 6 जनवरी को सूर्य ग्रहण भी था. वैज्ञानिकों ने इस चन्द्र ग्रहण को सुपर ब्लड मून का नाम दिया है. आपको बता दें कि यह चंद्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा. ऐसा माना जाता है कि इस दिन गंगा नदी में स्नान करना लाभदायक होता है. आपको बता दें कि यह चन्द्र ग्रहण पूर्ण चन्द्र ग्रहण होगा. 

Kumbh Mela 2019: अंतरिक्ष से पहली बार देखिए कुछ इस तरह दिखता है कुंभ का नजारा

भारतीय मान्यताओं के अनुसार इस दिन चंद्र ग्रहण के बाद स्नान करना चाहिए और फिर गेहूं, धान, चना, चावल, चीनी खीर आदि का दान करना चाहिए. वैज्ञानिकों का मानना है कि सुपर ब्लड मून बनने के बाद चन्द्रमा का आकार 14 प्रतिशत तक बढ़ जाएगा और यह रोज की अपेक्षा 30 प्रतिशत ज्यादा रोशनी से चमकेगा. ऐसा माना जा रहा है कि इस चन्द्र ग्रहण की अवधि 21 जनवरी की दोपहर तक रहेगी 

2019 में ISRO की 32 मिशनों की योजना, फरवरी में हो सकती है चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग

ऐसी स्थिति में बनता है चन्द्र ग्रहण
जब सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा की ऐसी खगोलीय स्थिति बनती है कि तीनो एक ही सीध में हो तब पृथ्वी की छाया चन्द्रमा में पड़ती है, इसे ही चन्द्र ग्रहण कहते है. चन्द्र ग्रहण में चन्द्रमा का आकार और अवधि उसकी स्थिति पर निर्भर करता है. चन्द्र ग्रहण शुरू होने के बाद पहले तो यह काला दिखाई देता है, लेकिन बाद में यह धीरे धीरे लाल रंग का हो जाता है. माना जा रहा है कि चन्द्र ग्रहण के दौरान पूरा आकाश लाल रंग का चमक उठेगा और इस पूरी प्रक्रिया को नासा ने मोस्ट डैजलिंग शो यानी सबसे चमकदार शो का नाम दिया है.

Year Ender 2018: गगनयान से अंतरिक्ष में 3 भारतीय भेजने वाला चौथा देश बन जाएगा भारत

भारत में नहीं दिखाई देगा सुपर ब्लड मून
सोमवार को लगने वाला चन्द्र ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा इस लिए इसका ज्यादा धार्मिक महत्व नहीं है. अगर आपको यह चन्द्र ग्रहण आपको देखना है तो आपको यह ग्रहण मध्य प्रशांत महासागर, नॉर्थ अमेरिका, सेंट्रल अमेरिका और साउथ अमेरिका में के देशों की यात्रा करनी पड़ेगी. भारत और ऑस्ट्रेलिया में यह ग्रहण नहीं दिखाई देगा इसलिए यहां पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा.