Akshaya Tritiya 2021: अक्षय तृतीया का दिन क्यों माना जाता है इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय

पुराणों में बताया गया है कि अक्षय तृतीया का दिन बेहद शुभ और पुण्य देने वाला माना जाता है और इस दिन सिर्फ खरीदारी ही नहीं बल्कि दान करना भी जरूरी होता है. क्या है इसका कारण और अक्षय तृतीया का शुभ मुहूर्त किस दिन है, यहां पढ़ें.

Akshaya Tritiya 2021: अक्षय तृतीया का दिन क्यों माना जाता है इतना शुभ, जानें इसका महत्व और सोना खरीदने का समय
अक्षय तृतीया 2021

नई दिल्ली: हिंदू पंचांग (Panchang) के अनुसार हर साल वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को अक्षय तृतीया कहा जाता है. हिंदू धर्म में अक्षय तृतीया (Akshaya Tritiya 2021) का दिन बेहद शुभ और खास माना जाता है. इस दिन अबूझ मुहूर्त होने के कारण हर तरह के शुभ कार्य (Auspicious work) किए जा सकते हैं. हिंदू पंचांग के अनुसार इस साल 2021 में अक्षय तृतीया 14 मई शुक्रवार को है. इस दिन सोना खरीदना बेहद शुभ और फलदायी (Buying Gold) माना जाता है. क्या है इसका कारण, इस बारे में यहां जानें.

अक्षय तृतीया के दिन क्यों खरीदते हैं सोना?

ऐसी मान्यता है कि अक्षय तृतीया के दिन किए गए कार्यों का फल कई गुना प्राप्त होता है. साथ ही यह भी मान्यता है कि इस दिन जो भी धातु खरीदी जाती है वह भविष्य में कई गुणा आगे बढ़ती है (Whatever is bought increases in future). यही कारण है कि इस दिन सोना खरीदना शुभ माना जाता है. यह भी मान्यता है कि इस दिन सोना खरीदने से सुख-समृद्धि की अपार वृद्धि होती है, घर-परिवार में सदैव खुशहाली बनी रहती है (Happiness in home). हिंदू पंचांग की मानें तो अक्षय तृतीया के दिन अबूझ मुहूर्त का योग होता है जिसे बेहद शुभ माना जाता है. यही वजह है कि इस दिन कोई भी शुभ कार्य या नए काम की शुरुआत की जाती है (New work can be started). इसके अलावा इस दिन लोग चांदी, बर्तन और अन्य कीमती वस्तुओं की भी खरीदारी करते हैं. 

ये भी पढ़ें- क्यों मनाया जाता है अक्षय तृतीया और इस दिन होती है किस देवी की पूजा, जानें

अक्षय तृतीया के दिन दान करने का महत्व   

धर्म शास्त्रों के अनुसार, अक्षय तृतीया के दिन दान-पुण्य (Donation should be done) करने से धन-वैभव में वृद्धि होने लगती है. इसके पीछे की प्राचीन कथा के अनुसार, अक्षय तृतीया के दिन भगवान शिव (Lord Shiva) से कुबेर (Lord Kuber) को धन मिला था और इसी खास दिन भगवान शिव ने माता लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) को धन की देवी का आशीर्वाद भी दिया था. यही कारण है कि अक्षय तृतीया के दिन सिर्फ खरीदना ही नहीं बल्कि दान करना भी शुभ फलदायी माना जाता है. इस दिन किए गए कर्म से अक्षय फल की प्राप्ति होती है और ऐसी मान्यता है कि इस दिन दान करने से मृत्यु का भय भी दूर हो जाता है.

ये भी पढ़ें- चैत्र नवरात्रि में जरूर करें ये उपाय, हर तरह का संकट हो जाएगा दूर

अक्षय तृतीया का शुभ मुहूर्त

अक्षय तृतीया की तिथि- 14 मई 2021 दिन शुक्रवार
तृतीया तिथि प्रारंभ- 14 मई को सुबह 5:38 बजे से 
तृतीया तिथि समाप्त- 15 मई को सुबह 07:59 बजे तक. 
इस दौरान आप सभी तरह के शुभ कार्य कर सकते हैं.

(नोट: इस लेख में दी गई सूचनाएं सामान्य जानकारी और मान्यताओं पर आधारित हैं. Zee News इनकी पुष्टि नहीं करता है.)

धर्म से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.

देखें LIVE TV -
 

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.