close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

indian super league-5: आखिरी मैच में गोवा से 0-1 से हारी चेन्नइयन

गोवा पहले ही प्लेऑफ में जगह बना चुकी है. वहीं चेन्नइयन बहुत पहले ही अंतिम-4 की रेस से बाहर हो गई थी.

indian super league-5: आखिरी मैच में गोवा से 0-1 से हारी चेन्नइयन
विजेता चेन्नइयन एफसी आईएसएल के पांचवें सीजन का अंत जीत के साथ नहीं कर पाई. (फोटो साभार: Twitter/ISL)

गोवा: मौजूदा विजेता चेन्नइयन एफसी हीरो इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के पांचवें सीजन का अंत जीत के साथ नहीं कर पाई. एफसी गोवा ने गुरुवार को अपने घर जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में खेले गए मैच में चेन्नइयन को 1-0 से हरा दिया. गोवा पहले ही प्लेऑफ में जगह बना चुकी है. वहीं चेन्नइयन बहुत पहले ही अंतिम-4 की रेस से बाहर हो गई थी. यह चेन्नइयन का लीग का आखिरी मैच था, जिसमें उसे हार ही मिली. इसके साथ ही चेन्नइयन ने लीग का अंत 18 मैचों में दो जीत, तीन ड्रॉ और 12 हार से हासिल सिर्फ नौ अंकों के साथ अंकतालिका में सबसे नीचे 10वें स्थान पर रहते हुए किया है.

इस जीत से मिले तीन अंकों के साथ गोवा ने लीग चरण का अंत 34 अकों के साथ दूसरे स्थान पर रहते हुए किया. पहले स्थान पर काबिज बेंगलुरू के भी 34 ही अंक हैं लेकिन वह गोल अंतर के मामले में गोवा से बेहतर है इसलिए पहले स्थान पर काबिज है.

गोवा से जिस तरह के खेल की उम्मीद थी उसने वैसे ही शुरुआत की. गोवा ने गेंद को अपने पास से ज्यादा देर के लिए जाने नहीं दिया. चेन्नइयन भी हालांकि पूरी तरह से बैकसीट पर नहीं थी. जेजे लालपेखुला और अनिरुद्ध थापा ने 13वें मिनट में अपनी जुगलबंदी से गोल करने की कोशिश तो की, लेकिन जेजे का शॉट सीधे नवीन कुमार के हाथों में गया.

19वें मिनट में गोवा के जैकीचंद सिंह ने फरान कोरोमिनास को बॉक्स के बाहर पास दिया. कोरोमिनास ने डिफेंडर को तो छकाया, लेकिन वह चेन्नइयन के गोलकीपर करणजीत सिंह को नहीं छका सके. कोरोमिनास यहां तो विफल रहे लेकिन 26वें मिनट में वह गोल कर गए.

इस गोल में उनकी मदद जैकीचंद सिंह ने ही की. अहमद ने लोंग बॉल पास दिया जो जैकीचंद के पास आया. जैकीचंद ने पहले टच में कोरोमिनास को पास दिया. यहां कोरोमिनास ने गेंद को नेट में डालने में कोई गलती नहीं की और यहां गोवा 1-0 से आगे हो गई.

एक गोल से आगे होने के बाद गोवा हावी हो गई थी और चेन्नइयन पर दबाव बढ़ गया था. गोवा लगातार मौके बनाती रही, हालांकि उसके प्रयास अंजाम तक नहीं पहुंच सके. पहले हाफ का अंत गोवा ने 1-0 के स्कोर के साथ किया.

दूसरे हाफ में आने के बाद चेन्नइयन ने कोशिशें जारी रखीं. इस प्रयास में 49वें मिनट में उसे निराशा हाथ लगी. अनिरुद्ध थापा ने लेफ्ट कॉर्नर में गेंद डाली. मालिसन अल्वेस ने इस पर हैडर लिया जो वापस आ गया. यहां जेजे ने भी रिबाउंड पर अपनी किस्मत आजमानी चाही जो बेकार साबित हुई.

बराबरी करने के अलावा चेन्नइयन की कोशिश गोवा को दूसरा गोल करने से रोकने की भी थी. इस प्रयास में ईदू बेदिया को गलत तरीके से टैकल करने के कारण क्रिस्टोफर हर्ड को पीला कार्ड दे दिया गया.

62वें मिनट में गोवा के कोच ने बेदिया को बाहर बुला ब्रैंडन फर्नाडिज को अंदर भेजा. यह इस मैच का पहला बदलाव था. दो मिनट बाद चेन्नइयन के एक और खिलाड़ी राफेल अगस्तो को भी पीला कार्ड सौंप दिया गया.

गोवा के बाद चेन्इयन ने भी बदलाव किया और 66वें मिनट में इसाक वानमालसाव्मा को बाहर बुला ग्रेगोरी नेल्सन को अंदर भेजा. एक मिनट बाद गोवा के हिस्से इस मैच का उसका दूसरा पीला कार्ड आया जो जैद क्राउच को मिला.

मैच नीरस सा होता जा रहा था, लेकिन इसी बीच 68वें मिनट में चेन्नइयन के पास से बराबरी का अच्छा मौका चला गया. गोवा के लेनी रोड्रिगेज ने गलती की और गेंद चेन्नइयन के क्रिस्टोफर के पास आ गई. क्रिस्टोफर ने पूरी दम से शॉट लगाया लेकिन वह उसे सही जगह भेज नहीं पाए.

77वें मिनट में कोरोमिनास गोवा के लिए दूसरा गोल करने से चूक गए. जैकीचंद ने कोरोमिनास को गेंद दी जिसे वो गोलपोस्ट से दूर खेल बैठे. फर्नाडिज ने भी 85वें मिनट में गोल करने का प्रयास किया जिसका अंजाम भी कोरोमिनास की तरह ऑफ टारगेट रहा. दो मिनट बाद फर्नाडिज ने जैद को गेंद दी और उन्होंने शॉट ऑफ टारगेट ही रखा.

अंतत: न चेन्नइयन बराबरी का गोल कर पाई और न ही गोवा अपनी बढ़त को दोगुना कर पाई.

(इनुपट-आईएएनएस)