close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ओवैसी बोले - विश्वकप में 'नागिन' जैसी लहराती गेंदों से कहर बरपा सकता है ये गेंदबाज

एआईएमआईएम नेता और असदुद्दीन ओवैसी ने राजनीति से हटकर अपना क्रिकेट ज्ञान सामने रखा है. इंडियन एक्सप्रेस पर लिखे एक आलेख में ओवैसी ने कहा कि विश्वकप में तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार इंग्लैंड में 'नागिन' जैसी लहराती गेंदों से कहर बरपा सकते हैं.

ओवैसी बोले - विश्वकप में 'नागिन' जैसी लहराती गेंदों से कहर बरपा सकता है ये गेंदबाज
ओवैसी ने कहा, "वर्तमान पीढ़ी भाग्यशाली है कि आज भारतीय टीम के पास भुवनेश्वर कुमार, बुमराह और मोहम्मद शमी है."

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहे विश्वकप में हिस्सा लेने के लिए बुधवार को रवाना होगी. विराट कोहली की कप्तानी वाली टीम यह टीम अपने तीसरे विश्वकप खिताब के लिए जद्दोजहद करेगी. रवाना होने से एक दिन पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने संवाददाताओं को संबोधित किया. 

उधर, एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने राजनीति से हटकर अपना क्रिकेट ज्ञान सामने रखा है. इंडियन एक्सप्रेस पर लिखे एक आलेख में ओवैसी ने कहा कि विश्वकप में तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार इंग्लैंड में 'नागिन' जैसी लहराती गेंदों से कहर बरपा सकते हैं.
 
ओवैसी ने कहा, "वर्तमान पीढ़ी भाग्यशाली है कि भारतीय टीम के पास तीन अच्छे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार, बुमराह और मोहम्मद शमी है. टीम की ये 'त्रिमूर्ति' किसी भी देश की बैटिंग लाइनअप की धज्जियां उड़ा सकती है. इससे पहले, हमारे पास कपिल, श्रीनाथ और जहीर थे."

ये भी पढ़ें: World Cup 2019: कप्तान कोहली बोले, 'यह अब तक का सबसे चुनौतीपूर्ण विश्वकप है'

 

वैसी ने भारतीय गेंदबाजों की प्रशंसा करते हुए कहा, "बुमराह और शमी के लिए सीजन शानदार रहा है. बेहतरीन गेंदबाजी की है. और बात भुवनेश्वर की करें तो जिस तरह से वह दोनों ओर गेंद को स्विंग कराता है वह अद्भुत और शानदार है. खास तौर से इंग्लैंड के हालातों को देखते हुए."
 
कपिल और श्रीनाथ की प्रशंसा करते हुए एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा, "वर्तमान पीढ़ी भाग्यशाली है कि आज टीम इंडिया के पास तीन अच्छे तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार, बुमराह और मोहम्मद शमी है लेकिन हमें कपिल, श्रीनाथ और जहीर खान को नहीं भूलना चाहिए. इन तीनों ने कई वर्षों तक भारतीय टीम का तेज आक्रमण का जिम्मा संभाला. अब समय बदल गया है और अब सब कुछ सिस्टेमिक होने लगा है. अब कई कोचिंग सेंटर खुल गए हैं. भारत में तेज गेंदबाज बनना हमेशा से चुनौतीपूर्ण काम रहा है." 

गौरतलब है कि भारत को अपना पहला मैच पांच जून को दक्षिण अफ्रीका से साउथैम्पटन में खेलना है. इसके बाद वह नौ जून को मौजूदा विजेता आस्ट्रेलिया से लंदन के केनिंग्टन ओवल से भिड़ेगी. 13 तारीख को भारत ट्रेंट ब्रिज मैदान पर किवी टीम के सामने होगी. भारतीय प्रशंसकों को जिस मैच का बेसब्री से इंतजार है, वो मैच है भारत और पाकिस्तान का जो 15 जून को मैनचेस्टर के ओल्ड ट्रेफर्ड में खेला जाएगा. इसके बाद 22 जून को अफगानिस्तान और भारत भिड़ेंगे. 

27 जून को भारत ओल्ड ट्रेफोर्ड में विंडीज के सामने उतरेगी जबकि मेजबान इंग्लैंड से वह 30 जून को एजबेस्टन में भिड़ेगी. इसी मैदान पर उसे दो जुलाई को बांग्लादेश के खिलाफ खेलना है. भारत अपना आखिरी मैच छह जुलाई को श्रीलंका के खिलाफ लीड्स में खेलेगी. इन मैचों से पहले भारत दो अभ्यास मैच भी खेलेगी. 25 मई को वह अपना पहला अभ्यास मैच लंदन में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेलेगी जबकि दूसरे अभ्यास मैच में वह बांग्लादेश के सामने कार्डिफ में 28 मई को खेलेगी. 

टीम : विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), शिखर धवन, लोकेश राहुल, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), विजय शंकर, रवींद्र जडेजा.