close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

स्टीव स्मिथ ने गावस्कर का 48 साल पुराना रिकॉर्ड बराबर किया, कोहली-सचिन आसपास भी नहीं

स्टीव स्मिथ ने एशेज सीरीज के दौरान ऐसा रिकॉर्ड बनाया, जो डॉन ब्रैडमैन, वॉली हैमंड, स्टीव वॉ, रिकी पोंटिंग जैसे दिग्गज भी नहीं बना सके. 

स्टीव स्मिथ ने गावस्कर का 48 साल पुराना रिकॉर्ड बराबर किया, कोहली-सचिन आसपास भी नहीं
स्टीव स्मिथ ने अपने टेस्ट करियर में 68 मैच में 6973 रन बनाए हैं. उनका औसत 64.56 है. (फोटो: Reuters)

नई दिल्ली: टेस्ट क्रिकेट के नए ब्रैडमैन कहे जा रहे स्टीव स्मिथ  (Steve Smith) ने एशेज सीरीज में दमदार प्रदर्शन कर सैंडपेपर (रेगमाल) का दाग धो दिया है. अब से दो-तीन महीने पहले तक जब भी स्टीव स्मिथ का जिक्र होता, तो उनके साथ बॉल टैम्परिंग और सैंडपेपर की बात भी होने लगती. लेकिन ऑस्ट्रेलिया (Australia) के इस बल्लेबाज ने एशेज सीरीज में बैट से वो जलवा दिखाया कि सैंडपेपर अब पुरानी बात लगने लगी है. स्मिथ ने इंग्लैंड के खिलाफ इस सीरीज में 774 रन बनाए. इसके साथ ही उन्होंने अनेक रिकॉर्ड तोड़ दिए. साथ ही सुनील गावस्कर (Sunil Gavaskar) का 48 साल पुराना रिकॉर्ड भी बराबर कर लिया. 

30 साल के स्टीवन स्मिथ (Steven Smith) ने इंग्लैंड के खिलाफ एक दिन पहले खत्म हुई टेस्ट सीरीज में चार मैच खेले. उन्हें इन चार टेस्ट में सात पारियों में बैटिंग का मौका मिला. स्मिथ ने इन सात पारियों में 110.57 की औसत से 774 रन बनाए. इसमें तीन शतक और तीन अर्धशतक शामिल हैं. स्मिथ चोट लगने के कारण लॉर्ड्स टेस्ट की दूसरी पारी में बैटिंग नहीं कर पाए थे. वे सिर में लगी इसी चोट की वजह से एक टेस्ट मैच भी नहीं खेल पाए. यानी, अगर उन्हें चोट नहीं लगती तो वे इस सीरीज में तीन पारियां और खेल सकते थे. 

यह भी पढ़ें: बिलियर्ड्स: पंकज आडवाणी का एक और कमाल, जीता 22वां विश्व खिताब, PM मोदी भी हुए मुरीद

बहरहाल, इस खिलाड़ी ने चार टेस्ट मैच की सात पारियां खेलकर भी वह कारनामा कर दिया, जो सुनील गावस्कर के अलावा एक भी भारतीय नहीं कर सका है. स्मिथ किसी टेस्ट सीरीज में सिर्फ चार टेस्ट मैच खेलकर 774 रन बनाने वाले दुनिया के महज तीसरे खिलाड़ी बन गए हैं. उन्होंने इस मामले में गावस्कर की बराबरी की है, जिन्होंने 1970-71 में चार टेस्ट मैच खेलकर 774 रन ही बनाए थे. उन्होंने यह प्रदर्शन वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था. 
 

smith

विवियन रिचर्ड्स को छोड़ दें तो दुनिया का कोई भी बल्लेबाज किसी एक सीरीज में चार टेस्ट मैच खेलकर 774 या इससे अधिक रन नहीं बना सका है. विवियन रिचर्ड्स (Vivian Richards) ने इंग्लैंड के खिलाफ 1976 में एक सीरीज में चार टेस्ट मैच खेलकर 829 रन बनाए थे. इस सीरीज में उनका औसत 119.42 रहा था. सर विव रिचर्ड्स ने इस सीरीज में तीन शतक और दो अर्धशतक लगाए थे. 

 

दुनिया में सिर्फ सात खिलाड़ी ही ऐसे हैं, जिन्होंने किसी टेस्ट सीरीज में सिर्फ चार मैच खेलकर 700 से अधिक रन बनाए हैं. इनमें भारत के सिर्फ सुनील गावस्कर शामिल हैं. ऐसा करने वाले बाकी छह खिलाड़ी विवियन रिचर्ड्स, स्टीव स्मिथ, ग्राहम गूच, जैक कैलिस, रिकी पोंटिंग और जॉर्ज हैडली हैं. स्टीव स्मिथ ऐसा दो बार कर चुके हैं, जो उनकी महानता को साबित करने के लिए काफी है. 
 

smith

भारतीय बल्लेबाजों में एक सीरीज में सबसे अधिक रन बनाने के मामले में सुनील गावस्कर पहले और विराट कोहली दूसरे नंबर पर हैं. गावस्कर ने 1970-71 में एक सीरीज में 774 रन बनाए थे. विराट कोहली 2014-15 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज में 692 रन बना चुके हैं. इसमें चार शतक शामिल हैं. विराट के अलावा दिलीप सरदेसाई और राहुल द्रविड़ भी एक सीरीज में 600 से अधिक रन बना चुके हैं. सचिन तेंदुलकर एक सीरीज में कभी भी 600 रन का आंकड़ा नहीं छू सके.