close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VIDEO: एश्ले बार्टी ने शारापोवा को हराया, क्वार्टरफाइनल में जगह बनाकर रचा इतिहास

एश्ले बार्टी दस साल बाद ऑस्ट्रेलियन ओपन में क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली पहली ऑस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी बनीं

VIDEO: एश्ले बार्टी ने शारापोवा को हराया, क्वार्टरफाइनल में जगह बनाकर रचा इतिहास
एश्ले बार्टी ने ऑस्ट्रेलियाई ओपन के चौथे दौर में मारिया शारापोवा को हराया. (फोटो: Twitter)

नई दिल्ली: एश्ले बार्टी दस साल बाद ऑस्ट्रेलियन ओपन में क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने वाली पहली ऑस्ट्रेलियाई महिला खिलाड़ी बन गई हैं.  बार्टी ने पूर्व चैम्पियन रूस की मारिया शारापोवा को हरा कर उन्हें ऑस्ट्रेलियन ओपन से बाहर हो गईं. बार्टी पहली बार किसी ग्रैंडस्लैम के क्वार्टरफाइनल में पहुंचीं. उन्होंने शारापोवा को तीन सेट तक चले मुकाबले में 4-6 6-1 6-4 से हराया. ऑस्ट्रेलिया के लिए पिछली बार 2009 में जेलेना डोकिच इस दौर तक पहुंची थीं.

इस कड़े मुकाबले में 22 साल की एश्ले बार्टी की जीत आसान नहीं रही. शारापोवा ने बार्टी की कड़ी टक्कर दी. पहला से बार्टी ने 4-6 से गंवाने के बाद शानदार वापसी की और दूसरे सेट में शारापोवा को 6-1 से हरा दिया. तीसरा सेट बार्टी ने 6-4 से जीतकर इतिहास रच दिया.  शारापोवा ने साल 2008 में ऑस्ट्रेलिायन ओपन का खिताब जीता था. 

 जीत के बाद बार्टी ने कहा, “खचाखच भरे इस सुंदर कोर्ट में खेलना सपने जैसा था. इससे बेहतर पल नहीं हो सकता.” शारापोवा के बारे में बार्टी ने कहा, वे एक शानदार चैंपियन हैं” एक अन्य मैच में चेक गणराज्य की पेत्रा क्वितोवा ने अमांडा अनिसिमोवा को 6-2, 6-1 से हराया. क्वार्टरफाइनल में क्वितोवा का मुकाबला बार्टी से होगा. बार्टी फिलहाल वर्ल्ड रैंकिंग में 15वें और क्वितोवा छठे स्थान पर है.  पन्द्रहवीं वरीयता प्राप्त बार्टी ने यूनाना की सक्कारी को 7-5, 6-1 से शिकस्त दी. उन्होंने टूर्नामेंट में इस मैच से पहले तक एक भी सेट नहीं गंवाया था.

शारापोवा ने वोज्नियाकी को हराकर किया था उलटफेर किया
शारापोवा ने शुक्रवार कोगत चैम्पियन कैरोलीन वोज्नियाकी को शिकस्त देकर टूर्नामेंट के चौथे दौर में जगह पक्की की थी. पांच बार की ग्रैंडस्लैम विजेता शारापोवा ने डेनमार्क की विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज वोज्नियाकी को तीन सेट तक चले मुकाबले को 6-4, 4-6, 6-3 से अपने नाम किया था. 2017 में प्रतिबंधित पदार्थ के परीक्षण में विफल होने से लगे निलंबन की वापसी के बाद यह उनकी सबसे बड़ी जीत थी.  शारापोवा ने अपना अंतिम ग्रैंडस्लैम 2014 में जीता था, जब वह फ्रेंच ओपन चैम्पियन बनी थी.