World Cup 2019: पाकिस्तान से क्रिकेट पर गौतम हुए 'गंभीर', बोले- मेरे लिए जवान जरूरी

पुलवामा हमले के बाद कई भारतीय खिलाड़ी पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच के बहिष्कार करने की मांग कर रहे हैं.

World Cup 2019: पाकिस्तान से क्रिकेट पर गौतम हुए 'गंभीर', बोले- मेरे लिए जवान जरूरी
भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर अपनी राय जाहिर करते हुए.

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के कई अधिकारियों और कई पूर्व खिलाड़ी आगामी वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ होने वाले मैच का बहिष्कार करने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट समुदाय से अलग-थलग कर देना चाहिए. इसी क्रम में अब भारतीय टीम के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने भी अपनी राय जाहिर की है.

भारत को वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से खेलना चाहिए या नहीं? इस पर गौतम गंभीर ने कहा, ''यह बीसीसीआई को तय करना है. व्यक्तिगत रूप से, पाकिस्तान के साथ नहीं खेलने में कुछ भी गलत नहीं है. मेरे लिए 2 अंक जरूरी नहीं हैं, मेरे लिए क्रिकेट खेल की तुलना में जवान अधिक महत्वपूर्ण हैं. देश पहले आता है.''

गंभीर ने आगे कहा, ''भले ही भारत को वर्ल्ड कप फाइनल में पाकिस्तान से खेलना पड़े. अगर आप फाइनल में जाते हैं तो मुझे लगता है कि देश को भी इसके लिए तैयार रहना चाहिए. समाज के कुछ हिस्सों में किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए जो यह कहने लगें कि आप खेल और राजनीति की तुलना नहीं कर सकते.''

सौरव गांगुली से उलट PAK से खेलने के पक्ष में सचिन, बोले- मैं उन्हें फ्री में 2 अंक नहीं दे सकता
दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने कहा था कि उन्हें आगामी विश्व कप में पाकिस्तान के खिलाफ नहीं खेलकर उसे दो अंक देना गवारा नहीं है क्योंकि इससे क्रिकेट महाकुंभ में इस चिर प्रतिद्वंद्वी को ही फायदा होगा. जबकि पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने पुलवामा आतंकी हमले के मद्देनजर पाकिस्तान के साथ सभी खेल रिश्ते तोड़ने की मांग की है. उन्होंने कहा, ‘‘यह 10 टीमों का विश्व कप है और प्रत्येक टीम अन्य टीम के साथ खेलेगी और मुझे लगता है कि अगर भारत विश्व कप में एक मैच नहीं खेलता है तो यह कोई मुद्दा होगा.’’

गांगुली से इतर तेंदुलकर ने सुनील गावस्कर के विचारों का समर्थन करते हुए कहा कि भारत के लिये विश्व कप में 16 जून को होने वाले मुकाबले से हटने के बजाय उसे हराना बेहतर होगा. पुलवामा आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के मारे जाने के बाद इस मैच से हटने की मांग उठ रही है.

विराट कोहली भी दे चुके ये जवाब
इससे पहले, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने पुलमावा में शहीद जवानों के परिवारों के प्रति संवेदना जताते हुए कहा था कि वर्ल्ड कप में पाकिस्तान से मैच को लेकर देश की सरकार और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) जो फैसला लेंगे, वह हमें मंजूर होगा.

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा आतंकी हमले के बाद भारत के पूर्व क्रिकेटर मांग कर रहे हैं कि पाकिस्तान के साथ क्रिकेट खेलना बंद कर देना चाहिए. कई खिलाड़ी हालांकि विरोधी देश के साथ खेलने के समर्थक हैं. इसी बीच विराट कोहली का कहना है कि हम देश और बीसीसीआई के साथ खड़े हैं. सरकार और बोर्ड जो भी निर्णय लेते हैं, हम उसका सम्मान करेंगे.