IND vs WI: विराट की किस बात पर बोले पोलार्ड, 'इतने नाटकीय क्यों हैं विराट'

India vs West Indies: वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड का कहना है कि उन्हें समझ नहीं आता कि विराट इतने नाटकीय क्यों हैं. 

IND vs WI: विराट की किस बात पर बोले पोलार्ड, 'इतने नाटकीय क्यों हैं विराट'
विराट मैदान पर ज्यादा प्रतिक्रिया देते दिखाई देते हैं जबकि पोलार्ड अपेक्षाकृत शांत नजर आते हैं (फोोट

विशाखापट्टनम: वेस्टइंडीज के कप्तान केरन पोलार्ड (Kieron Pollard) ने कहा है कि वह इस बात को समझ नहीं पा रहे हैं कि भारत के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) इस सीरीज में इतने नाटकीय क्यों हो रहे हैं. दोनों टीमों के बीच टी-20 सीरीज में कोहली ने केसरिक विलियम्स के 'नोटबुक टिक' का नाट्य रूपांतरण किया था. इसके बाद वह चेन्नई में खेले गए वनडे में रवींद्र जडेजा के रन आउट होने पर मैदानी अंपायर पर भी डगआउट में बैठकर झुझलाते हुए नजर आए.

दोनों कप्तान हुए थे जीरो पर आउट
दूसरे वनडे में कोहली पहली गेंद पर आउट हो गए थे और इसी मैच में जब पोलार्ड बिना खाता खोले आउट हुए तो भी कोहली ने कुछ नाटकीय अंदाज में इसका जश्न मनाया. इस मैच में विराट और पोलार्ड दोनों ही गोल्डन डक पर आउट हो गए थे. जहां यह पहली बार था कि विराट के बिना कोई रन बनाए टीम इंडिया ने 388 का बड़ा स्कोर खड़ा किया. 

यह भी पढ़ें: IND vs WI: विजाग वनडे में टीम इंडिया के 6 हीरो, जिन्होंने सीरीज में कराई वापसी

विराट से ही पूछिए क्यों
दूसरे मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में पोलार्ड ने कहा, "आपको उनसे पूछना होगा कि वह क्यों इतने नाटकीय हो रहे हैं. मैं उनकी तरफ से इस बात का जवाब नहीं दे सकता. आप उनसे यह सवाल पूछिए और उनको जवाब देने दीजिए. मैं इसका कारण नहीं जानता. मुझे बिल्कुल भी अंदाजा नहीं है."

यह भी पढ़ें: विराट बने देश के नंबर एक सेलिब्रिटी,सलमान को छोड़ा पीछे, धोनी 5वे नंबर पर

टीम इंडिया ने बनाए थे रिकॉर्ड 388 रन 
दूसरे वनडे में विंडीज को हार का सामना करना पड़ा. भारत ने उसके सामने 388 रनों का विशाल लक्ष्य रखा जिसके सामने विंडीज 280 रनों पर ढेर हो गई. इस मैच में रोहित शर्मा ने 159, केएल राहुल ने 102, श्रेयस अय्यर ने 53 रन की पारी खेली वहीं अंत में ऋषभ पंत ने भी 16 गेंदों में 39 रन का उल्लेखनीय योगदान दिया. 

मैच को लेकर क्या कहा पोलार्ड ने
मैच को लेकर पोलार्ड ने कहा, "एक समय तक हम अच्छी स्थिति में थे और अगर आप लगातार विकेट खोते रहोगे और आप बैकफुट पर ही रहोगे. यहीं हम मात खा गए और हम इस बात को कबूल करते हैं." उन्होंने कहा, "388 रनों का पीछा करने के लिए खिलाड़ियों को खुलकर खेलना होता है."
(इनपुट आईएएनएस)