INDvsWI: रनआउट विवाद पर भड़के कोहली, पर पोलार्ड बोले- जो भी हुआ- सही हुआ

India vs West Indies: वेस्टइंडीज ने मेजबान भारत को पहले वनडे मैच में आठ विकेट से करारी शिकस्त दी. 

INDvsWI: रनआउट विवाद पर भड़के कोहली, पर पोलार्ड बोले- जो भी हुआ- सही हुआ

चेन्नई: वेस्टइंडीज ने मेजबान भारत को चेन्नई में खेले गए पहले वनडे मैच में आठ विकेट से करारी शिकस्त दी. भारतीय टीम (Team India) ने पहले बैटिंग करते हुए 287/8 का स्कोर बनाया. वेस्टइंडीज (West Indies) ने अपने दो शतकवीरों शिमरॉन हेटमायर (139) और शाई होप (102*) के शतकों की बदौलत यह मैच 48वें ओवर में ही जीत लिया. लेकिन इस मैच के बाद हेटमायर और होप के शतकों से ज्यादा रवींद्र जडेजा के रन आउट विवाद की रही. भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने कहा कि उन्होंने अपने करियर में पहले ऐसा कभी नहीं देखा. वहीं, वेस्टइंडीज के कप्तान कीरोन पोलार्ड (Kieron Pollard) की राय थी कि जो भी हुआ, सही हुआ. 

भारत और विंडीज (India vs West Indies) का मैच रविवार को चेन्नई में खेला गया. इस मैच के 48वें ओवर में वह विवाद हुआ, जिस पर भारत और विंडीज के कप्तानों की राय अलग-अलग है. रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) ने इस ओवर में तेजी से दौड़कर रन लिया. लेकिन जब तक वे क्रीज पर पहुंचते, उससे पहले ही रोस्टन चेज का थ्रो विकेट पर जा लगा. वेस्टइंडीज के खिलाड़ियों ने अपील की, जिसे अंपायर शान जॉर्ज ने नकार दिया. हालांकि, जडेजा आउट थे. इस बीच, अंपायर के निर्णय में अचानक मोड़ आ गया.

यह भी पढ़ें: एबी डिविलियर्स कर सकते हैं संन्यास से वापसी, दक्षिण अफ्रीकी कोच ने दिए संकेत

दरअसल, रवींद्र जडेजा को नॉट आउट करार दिए जाने के कुछ सेकंड बाद मैदान पर लगी बड़ी स्क्रीन में रीप्ले दिखाया गया. इसमें पता चल रहा था कि जडेजा आउट थे. इसके बाद कीरोन पोलार्ड ने अंपायर शान जॉर्ज से संपर्क किया और तीसरे अंपायर से मदद लेने की अपील की. इसके बाद शान जॉर्ज के पूछने पर तीसरे अंपायर ने जडेजा को आउट करार दिया.  

इस पूरे घटनाक्रम पर विराट कोहली नाराज दिखे. उन्होंने मैच के बाद कहा, ‘फील्डर ने अपील की और अंपायर ने नॉट आउट करार दिया. मामला यहीं खत्म हो जाता है. मैदान के बाहर बैठे लोग यह तय नहीं कर सकते की वहां क्या हुआ. मैंने पहले कभी ऐसा नहीं देखा.’ वहीं, कीरोन पोलार्ड ने कहा, ‘जो भी हुआ, उसमें सबसे अहम बात यह है कि आखिर अंत में सही निर्णय लिया गया. मेरे लिए यही सबसे महत्वपूर्ण बात है. इसलिए हम कह सकते हैं कि जो भी हुआ, सही हुआ.’