close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsAUS: कुलदीप के बाद उनके कोच ने भी माना, और बेहतर गेंदबाजी कर सकते हैं

टीम इंडिया के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने कहा है कि कुलदीप यादव से और अधिक की उम्मीद की जा सकती है.

INDvsAUS: कुलदीप के बाद उनके कोच ने भी माना, और बेहतर गेंदबाजी कर सकते हैं
भरत अरुण ने कुलदीप की तारीफ करते हुए कहा है कि इससे भी ज्यादा अच्छा प्रदर्शन कर सकते हैं. (फोटो: IANS)

सिडनी:  भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच टेस्ट सीरीज का आखिरी टेस्ट बारिश की वजह से ड्रॉ की ओर बढ़ता दिख रहा है. इस मैच में टीम इंडिया बहुत ही मजबूत स्थिति में है. उसने दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन खिलाने को मजबूर किया.पहली पारी में भारतीय गेंदबाजों खासकर कुलदीप यादव ने शानदार गेंदाबाजी कर 5 विकेट लिए.  भारतीय गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने रविवार को कलाई के स्पिनर कुलदीप यादव की तारीफ करते हुए कहा कि इंग्लैंड दौरे की तुलना में यह चाइनामैन गेंदबाज कहीं बेहतर हुआ है. 

ऑस्ट्रेलिया में अपने पहले ही टेस्ट में कुलदीप ने 99 रन देकर पांच विकेट चटकाए जिससे ऑस्ट्रेलिया की टीम पहली पारी में 300 रन ही बना सकी. फॉलोऑन खेलते हुए ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में बिना विकेट खोए छह रन बना लिए हैं.

यूं तारीफ की कुलदीप की भरत ने
अरुण ने चौथे क्रिकेट टेस्ट के वर्षा से प्रभावित चौथे दिन के खेल के बाद कहा, ‘‘कुलदीप में काफी कौशल है और उसने यह साबित भी किया है. एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैचों में वह काफी सफल रहा और संभवत: एकदिवसीय प्रारूप में वह नंबर एक गेंदबाज है. वह बेजोड़ है क्योंकि दुनिया भर में इस समय बेहद कम चाइनामैन गेंदबाज मौजूद हैं. साथ ही वह गुगली का भी प्रभावी इस्तेमाल करता है.’’ 

Kuldeep Yadav

ये बातें भी बनाती हैं कुलदीप को और खास
अरुण ने कहा, ‘‘इसके अलावा जो चीज उसे और अधिक विशेष बनाती है वह है क्रीज का इस्तेमाल. वह ओवर और राउंड का विकेट गेंदबाजी कर सकता है. वह विकेट के करीब और क्रीज से दूर से भी गेंदबाजी कर सकता है. इससे उसे काफी विविधता मिलती है.’’ उन्होंने कहा कि मौजूदा टेस्ट में कुलदीप का अच्छा प्रदर्शन इससे बेहतर समय में नहीं हो सकता था. उन्होंने कहा, ‘‘इंग्लैंड में जब वह खेला तो उसके लिए मैच काफी अच्छा नहीं रहा लेकिन यह टेस्ट मैच उसे काफी आत्मविश्वास देगा. और साथ ही उसकी आयु और यह देखते हुए कि वह स्पिनर है, मुझे लगता है कि उसके अंदर काफी क्रिकेट बचा है.’’ 

दो स्पिनर क्यों खिलाए गए सिडनी में
दो स्पिनरों के साथ खेलने के फैसले पर अरुण ने कहा, ‘‘इससे पहले हमने सिडनी में अभ्यास मैच और टी20 मैच भी खेला था. इसलिए हम हालात को जानते थे और साथ ही हमने महसूस किया कि सिडनी में दो स्पिनरों के साथ खेलने की जरूरत है.’’ भारत ने मेलबर्न में फॉलोऑन नहीं देने का फैसला किया था लेकिन यहां ऐसा किया जिसके संदर्भ में अरुण ने कहा, ‘‘कल जब ऑस्ट्रेलिया ने 150 रन पर पांच विकेट गंवा दिए थे और मौसम की भविष्यवाणी को ध्यान में रखते हुए, हमने फैसला किया कि अगर हम उन्हें जल्दी आउट करते हैं तो निश्चित तौर पर फॉलोऑन देंगे.’’ 

यह भी पढ़ें: INDvsAUS: ऑस्ट्रेलिया को संकट में डालने वाले कुलदीप अपने प्रदर्शन से संतुष्ट नहीं, जानें क्या कहा

भारतीय गेंदबाजों को दिया सिडनी का श्रेय
भरत ने कहा, ‘‘बल्लेबाजों के नजरिये से निश्चित तौर पर यह खेलने के लिए संभवत: सर्वश्रेष्ठ विकेटों में से एक है. इसलिए हमें पता था कि मैच जीतने के लिए हमें कितने ओवरों की जरूरत होगी. मौसम पहले तीन दिन की तुलना में राहत भरा है और साथ ही हमारे पास 3-1 से जीतने का बेहतरीन मौका है.’’ ऑस्ट्रेलियाई टीम पांचवें दिन मैच ड्रा कराने के इरादे से उतरेगी लेकिन गेंदबाजों ने भारतीय टीम की सीरीज में जीत लगभग तय कर दी है और अरुण ने इसका श्रेय आलराउंड आक्रमण को दिया. 

यह भी पढ़ें: कुलदीप यादव ने अपने छठे टेस्ट में किया कमाल, बना डाले ये बेहतरीन रिकॉर्ड

विदेशी पिचों पर बेहतर हुई है टीम इंडिया
वर्ष 2018-19 के सत्र में विदेशी सरजमीं पर भारतीय गेंदबाजों की प्रगति पर अरुण ने कहा, ‘‘जब हमने शुरुआत की तो दक्षिण अफ्रीका और फिर इंग्लैंड में हमारे पास बेहतरीन मौका था. इंग्लैंड में सीरीज का नतीजा बिलकुल अलग नजरिया पेश करता है लेकिन मुझे लगता है कि हम इंग्लैंड में जीत के काफी करीब थे. हमने वहां गलतियां की और हमने काफी विचार किया कि हमने कहां गलतियां की. ’’ उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक निचले क्रम के बल्लेबाजों का सवाल है तो हम उन्हें आउट करने को लेकर काफी बेताब थे. इसलिए हमने उन्हें शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों की तरह गेंदबाजी की. हमने यही गलती की.’’