close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

INDvsNZ: पहले दो वनडे गंवाने के बाद कीवी कोच ने बताया, कैसे करेगी न्यूजीलैंड वापसी

पहले दो वनडे मैचों में अपनी टीम की करारी हार के बाद न्यूजीलैंड के कोच ने बताया है कि बाकी मैचों में उनका लक्ष्य क्या होगा.

INDvsNZ: पहले दो वनडे गंवाने के बाद कीवी कोच ने बताया, कैसे करेगी न्यूजीलैंड वापसी
न्यूजीलैंड की टीम पर तीसरे वनडे में वापसी करने का दबाव है. (फोटो: PTI)

माउंट मोउनगुई: भारत और न्यूजीलैंड के बीच चल रही पांच वनडे मैचों की सीरीज में टीम इंडिया ने पहले दो मैचों में धमाकेदार जीत दर्ज कर मेहमान टीम को बैकफुट पर धकेल दिया है. सीरीज का तीसरा मैच भी माउंट मोउनगुई में ही सोमवार को होना है. न्यूजीलैंड के लिए यह मैच जीतना बहुत जरूरी है. अगर इस मैच में भी वह हार जाता है तो वह सीरीज ही गंवा देगा. न्यूजीलैंड के कोच गैरी स्टीड ने अपनी टीम की आगे की रणनीति के बारे में खुलासा किया है. 

स्टीड ने शनिवार को कहा कि उनके बल्लेबाजों के लिये भारत के खिलाफ सीरीज के बाकी मैचों में चुनौती टॉप ऑर्डर पर बड़ी साझेदारियां बनाने की है. पहले दोनों मैचों में न्यूजीलैंड की टीम की बल्लेबाजी की कमजोरी खुल कर सामने आई थी. पहले मैच में न्यूजीलैंड की पूरी टीम 38 ओवरों में ही केवल 157 रनों पर आउट हो गई थी. वहीं दूसरे मैच में 325 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम 41 ओवरो में 234 रनों पर आउट हो गई थी जिससे उसे  90 रनों की हार का सामना करना पड़ा था. पहला मैच न्यूजीलैंड ने आठ विकेट से गंवाया था. 

प्रदर्शन में सुधार तो है, लेकिन काफी नहीं
स्टीड ने कहा ,‘‘प्रदर्शन में सुधार आया है लेकिन अभी भी यह आशातीत नहीं है.’’ उन्होंने कहा, ‘‘उन्होंने अच्छी बल्लेबाजी की और मुझे लगा कि 350 से अधिक रन हो जायेंगे. मुझे खुशी है कि आखिर में गेंदबाजी बेहतर रही. आखिर में ब्रासवेल ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन किसी भी मायने में यह मुकम्मिल प्रदर्शन नहीं था.’’ ब्रेसवेस ने शनिवार को हुए दूसरे वनडे में 46 गेंदों पर 5 चौके और तीन छक्कों के साथ 57 रनों की बेहतरीन पारी खेली थी. 

बड़ी साझेदारियां न हो पाना ही हार की वजह
कीवी कोच ने कहा, ‘‘हमने शीर्षक्रम में अच्छी साझेदारियां नहीं की जो श्रीलंका के खिलाफ हमारी ताकत थी. बल्लेबाजी ईकाई के रूप में हमारे लिये अगले तीन मैचों में बड़ी चुनौती अच्छी साझेदारियां निभाने की होगी.’’ न्यूजीलैंड ने नियमित अंतराल पर विकेट गंवाए और टीम कभी लक्ष्य हासिल करने की स्थिति में नहीं दिखी. टीम के शीर्ष छह में शामिल सभी बल्लेबाज दोहरे अंक में पहुंचे लेकिन कोई बड़ी पारी नहीं खेल पाया. आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे डग ब्रेसवेल ने सर्वाधिक 57 रन बनाए.

दूसरे वनडे में ऐसे लड़खड़ाया न्यूजीलैंड का टॉप ऑर्डर
लक्ष्य का पीछा करने उतरे न्यूजीलैंड की शुरुआत खराब रही और उसने पांचवें ओवर में ही मार्टिन गुप्टिल (15) का विकेट गंवा दिया जिन्होंने भुवनेश्वर की गेंद पर थर्ड मैन पर चहल को कैच थमाया. गुप्टिल इससे पहले 12 रन के स्कोर पर भाग्यशाली रहे थे तब भुवनेश्वर की गेंद पर विकेटकीपर धोनी ने उनका कैच टपका दिया था. कप्तान केन विलियमसन (20) ने शमी पर लगातार दो छक्के और चौका लगाया लेकिन इसी ओवर में गेंद को विकेटों पर खेल गए. सलामी बल्लेबाज मुनरो 31 रन बनाने के बाद चहल की सीधी गेंद को रिवर्स स्वीप करने की कोशिश में पगबाधा हुए. रोस टेलर (22) और टाम लैथम (34) ने 17वें ओवर में टीम का स्कोर 100 रन तक पहुंचाया. टेलर को हालांकि जाधव के अगले ओवर में धोनी ने शानदार तरीके से स्टंप किया. कुलदीप ने अपने तीसरे ही ओवर में लैथम को पगबाधा करके न्यूजीलैंड का स्कोर पांच विकेट पर 136 रन किया.

(इनपुट भाषा)