Breaking News
  • कोरोना संकट पर केंद्र ने कई राज्‍यों पर सवाल उठाए
  • कई राज्‍यों ने कोरोना अस्‍पताल को नोटिफाइड नहीं किया: केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन
  • नेपाल के रास्‍ते भारत में कोरोना फैलाने की बड़ी साजिश का हुआ पर्दाफाश
  • आजमगढ़: जमातियों की सूचना देने पर पुलिस ने किया 5000 रुपये देने का ऐलान

एक हाथ से की बल्‍लेबाजी, हुआ शून्‍य पर आउट, फिर भी केरल ने रचा इतिहास

गुजरात को जीत के लिये 195 रन की जरूरत थी लेकिन पूरी टीम 31-3 ओवर में 81 रन पर आउट हो गई.

एक हाथ से की बल्‍लेबाजी, हुआ शून्‍य पर आउट, फिर भी केरल ने रचा इतिहास
गुजरात को तीसरे ही दिन 113 रन से हराकर केरल ने रणजी ट्राफी सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. (फोटो साभार: केरल सीएमओ)

वायनाड: गुजरात को तीसरे ही दिन 113 रन से हराकर केरल ने रणजी ट्राफी सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. गुजरात को जीत के लिये 195 रन की जरूरत थी लेकिन पूरी टीम 31-3 ओवर में 81 रन पर आउट हो गई. बासिल थम्पी ने 27 रन देकर पांच विकेट लिये जबकि संदीप वारियर ने 30 रन देकर चार विकेट चटकाए.
 
गुजरात की शुरुआत बहुत खराब रही और छठे ही ओवर में कथान डी पटेल आउट हो गए जिन्हें थम्पी ने बोल्ड किया. इसी ओवर की आखिरी गेंद पर उन्होंने प्रियांक पांचाल (तीन) को पवेलियन भेजकर गुजरात को संकट में डाल दिया. खब्बू बल्लेबाज राहुल शाह ही कुछ देर टिककर खेल सके जिन्होंने 70 गेंद में चार चौकों की मदद से नाबाद 33 रन बनाए.

 
गुजरात के कप्तान पार्थिव पटेल खाता भी नहीं खोल सके और रन आउट हो गए. ध्रुव रावल (17) दोहरे अंक में पहुंचने वाले दूसरे बल्लेबाज रहे. थम्पी को आठ विकेट लेने के लिये मैन आफ द मैच चुना गया. वारियर ने भी मैच में आठ विकेट चटकाए.