close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

VVS लक्ष्मण ने इस ऑलराउंडर को बताया चतुर, कहा- वनडे टीम में मिलनी चाहिए जगह

वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज में क्लीन स्वीप करने वाली भारतीय टीम के तीन खिलाड़ियों को वनडे टीम में जगह नहीं मिली है.

VVS लक्ष्मण ने इस ऑलराउंडर को बताया चतुर, कहा- वनडे टीम में मिलनी चाहिए जगह
वीवीएस लक्ष्मण. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: भारतीय टीम आईसीसी विश्व कप के बाद बदलाव के दौर से गुजर रही है. दिनेश कार्तिक, विजय शंकर जैसे कुछ खिलाड़ियों की टीम से छुट्टी हो चुकी है. वहीं, नवदीप सैनी, राहुल चाहर जैसे युवा टीम में एंट्री कर रहे हैं. बदलाव के इस वक्त में वीवीएस लक्ष्मण (VVS Laxman) ने एक ऐसे ऑलराउंडर को वनडे टीम में लाने की सलाह दी है, जो टी20 टीम में तो जगह बना चुका है, लेकिन 50 ओवर के खेल में ऐसा नहीं कर पाया है. भारतीय टीम (Team India) इस समय वेस्टइंडीज में द्विपक्षीय सीरीज (India vs West Indies) खेल रही है. 

वेरी-वेरी स्पेलश वीवीएस लक्ष्मण ने ऑलराउंडर क्रुणाल पांड्या (Krunal Pandya) को वनडे टीम में लाने की वकालत की है. उन्होंने अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में अपने कॉलम में लिखा है, ‘उम्र में बड़े पांड्या (क्रुणाल) चतुर हैं और अपने दम पर सोचने की काबिलियत रखते हैं. मैं उन्हें वनडे टीम में खेलते हुए देखना पसंद करुंगा. मुझे लगता है कि वे नंबर-6 पर अच्छी बल्लेबाजी कर सकते हैं और पूरे 10 ओवर भी डाल सकते हैं.’ क्रुणाल पांड्या टी20 सीरीज में मैन ऑफ द सीरीज चुने गए थे.

यह भी पढ़ें: INDvsWI: तूफानी क्रिस गेल की ऐसी बल्लेबाजी किसी ने नहीं देखी होगी, बनाया रिकॉर्ड

दाएं हाथ के पूर्व बल्लेबाज ने लिखा, ‘वेस्टइंडीज के खिलाफ खेली गई तीन मैचों की वनडे सीरीज में मैन ऑफ द मैच नवदीप सैनी, क्रुणाल पांड्या और दीपक चाहर रहे. यह बताता है कि भारत का अंतरराष्ट्रीय स्तर के लिए खिलाड़ियों को तैयार करने का जो सिस्टम है वो कितना शानदार है. सबसे अच्छी बात यह है कि इन सभी को अपने ऊपर भरोसा है. सैनी एक्सप्रेस गेंदबाज हैं और वे इसी तरह से गेंदबाजी करते हैं.’

वीवीएस लक्ष्मण ने साथ ही लिखा कि युवा प्रतिभाओं के सामने आने से जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार जैसे नियमित खेलने वाले खिलाड़ियों पर से बोझ कम होगा. बता दें कि टी20 सीरीज के तीन मैचों में क्रमश: नवदीप सैनी, क्रुणाल पांड्या और दीपक चाहर मैन ऑफ द मैच चुने गए थे. इनमें से पांड्या और चाहर वनडे टीम में शामिल नहीं किए गए हैं.