44 साल की उम्र में टी-20 में जड़ा 76 गेंदों में दोहरा शतक, लेकिन दर्ज नहीं हो सका रिकार्ड

चन्द्रपॉल ने अपनी इस पारी में 76 गेंदों पर 25 चौके जड़े और 13 गगन चुंबी छक्के लगाए.

44 साल की उम्र में टी-20 में जड़ा 76 गेंदों में दोहरा शतक, लेकिन दर्ज नहीं हो सका रिकार्ड
आपको बता दें कि यह एक घरेलू टूर्नामेंट था इसलिए चन्द्रपॉल की यह रिकार्ड पारी क्रिकेट के पन्नों पर दर्ज नहीं हो पाई. (फाइल फोटो)

नई दिल्लीः वेस्ट इंडीज के बल्लेबाज शिवनारायण चंद्रपॉल ने टी20 में दोहरा शतक जमाते हुए एक नया कीर्तमान स्थापित किया है. चन्द्रपॉल ने एक घरेलू टूर्नामेंट के दौरान यह रिकार्ड बनाया. बता दें कि वेस्ट इंडीज का यह बल्लेबाज अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को संन्यास ले चुके हैं. चंद्रपॉल ने सेंट मार्टिन में एडम सेनफॉर्ड क्रिकेट4लाइफ टी20 टूर्नामेंट खेलते हुए दोहरा शतक बनाया. उन्होंने अपना दोहरा शतक पूरा करने के लिए मात्र 76 गेंदों का सामना किया. चन्द्रपॉल पहले ऐसे बल्लेबाज हैं जिन्होंने 44 साल की उम्र में टी20 क्रिकेट में इतनी कम गेंदों में दोहरा शतक जड़ा है.

World Cup 2019: इंग्लैंड के पूर्व कप्तान की BCCI को सलाह, अब विराट कोहली को रेस्ट दो

चन्द्रपॉल ने अपनी इस पारी में 76 गेंदों पर 25 चौके जड़े और 13 गगन चुंबी छक्के लगाए. चन्द्रपॉल ने अपनी इस पारी की शुरुआत स्मिथ के साथ की. स्मिथ ने अपने साथी का अच्छा साथ निभाया और उन्होंने 29 गेंदों पर 54 रन की पारी खेली. स्मिथ ने अपनी इस पारी में आठ चौके और दो छक्के लगाए. चन्द्रपॉल ने अपनी बल्लेबाजी से 20 ओवर में टीम का स्कोर 302 रन तक पहुंचाया. चन्द्रपॉल की टीम ने इस मैच को 192 रन से जीता. चन्द्रपॉल मैदान में इस तरह से गेंदबाजों पर टूटे मानो वह यह पहले से ही यह सोच कर आए हो कि आज क्रिकेट में नया कीर्तमान स्थापित करना है.

IPL-12: विराट के ‘चैलेंजर्स’ ने रंग तो बदला, पर नहीं बदली किस्मत; लगातार छठा मैच हारे

क्रिकेट को कह चुके हैं अलविदा

आपको बता दें कि यह एक घरेलू टूर्नामेंट था इसलिए चन्द्रपॉल की यह रिकार्ड पारी क्रिकेट के पन्नों पर दर्ज नहीं हो पाई. लेकिन इस पारी को जिस क्रिकेट प्रेमी ने देखा वह शायद ही कभी उनकी यह ताबड़तोड़ पारी को भूल पाए. वेस्ट इंडीज के इस क्रिकेटर ने तीन साल पहले ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को संन्यास कह दिया था, लेकिन इसके साथ ही उन्होंने घरेलू टूर्नामेंट खेलते रहने का निर्णय लिया था. इस दिग्गज क्रिकेटर ने आईपीएल के पहले सीजन में भी बल्लेबाजी की थी लेकिन इसके बाद वे किसी टीम का हिस्सा नहीं बन पाए.