World Cup 2019: गंभीर ने रायडू के ना चुने जाने पर उठाए सवाल, कहा- पंत के पास अभी मौका है
trendingNow1517011

World Cup 2019: गंभीर ने रायडू के ना चुने जाने पर उठाए सवाल, कहा- पंत के पास अभी मौका है

गौतम गंभीर ने 2011 के विश्व कप फाइनल में 97 रन की पारी खेली थी. वे अब क्रिकेट छोड़कर राजनीति से जुड़ चुके हैं.

गौतम गंभीर ने 10 साल के वनडे करियर में 147 वनडे मैच खेले और 5238 रन बनाए. इनमें 11 शतक शामिल हैं. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम विश्व कप के लिए चुनी जा चुकी है. इसके साथ ही टीम की समीक्षा भी शुरू हो गई है. सुनील गावस्कर से लेकर गौतम गंभीर तक कई पूर्व क्रिकेटरों ने अंबाती रायडू और ऋषभ पंत के टीम में नहीं चुने जाने पर निराशा जताई है. गौतम गंभीर का मानना है कि महज तीन नाकामियों के बाद अंबाति रायडू को विश्व कप टीम से बाहर किया जाना दुखद है. दूसरी ओर, सुनील गावस्कर ने कहा कि ऋषभ पंत का टीम में नहीं चुना जाना हैरानी भरा फैसला है. विश्व कप 30 मई से इंग्लैंड एंड वेल्स में खेला जाएगा. 

गौतम गंभीर ने मंगलवार को कहा, ‘मुझे लगता है कि ऋषभ पंत को बाहर किए जाने पर कोई बहस नहीं होनी चाहिए, पर अंबाति रायडू का बाहर होना चर्चा का विषय है. यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि सफेद गेंद के क्रिकेट में 48 की औसत वाले खिलाड़ी को जो  33 साल का है, उसे टीम में जगह नहीं दी गई. चयन में किसी अन्य फैसले से ज्यादा दुखद मेरे लिए यही है.’ कुछ महीने पहले रायडू को कप्तान विराट कोहली द्वारा चौथे नंबर के लिए भारत की पहली पसंद बताया जा रहा था, लेकिन पिछले महीने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज में कम स्कोर ने चयनकर्ताओं को पुनर्विचार के लिए मजबूर कर दिया.

यह भी पढ़ें: World Cup 2019: चैंपियन तो ऑलराउंडर ही बनाते हैं, इस बार ‘विराट तिकड़ी’ पर रहेगी नजर

गौतम गंभीर को वेस्टइंडीज में हुए 2007 विश्व कप के लिए नहीं चुना गया था और तब वे खेल को छोड़ने पर विचार करने लगे थे. उन्होंने कहा, ‘मुझे उसके (रायडू) लिए दुख होता है क्योंकि मैं भी 2007 में इसी तरह की स्थिति में था, जब चयनकर्ताओं ने मुझे नहीं चुना था. मैं जानता हूं कि विश्व कप के लिए नहीं चुना जाना कितना मुश्किल होता है. आखिरकार हर किसी युवा खिलाड़ी के लिए यह बचपन का सपना होता है कि वह इस बड़े टूर्नामेंट का हिस्सा बने. इसलिए मुझे किसी अन्य क्रिकेटर से ज्यादा रायडू के लिए दुख हो रहा है जिन्हें नहीं चुना गया.’

विकेटकीपर पंत के नहीं चुने जाने पर गंभीर ने कहा, ‘यह बिल्कुल करारा झटका नहीं है. यह झटका क्यों है? वह लगातार सफेद गेंद के क्रिकेट का हिस्सा नहीं रहा है. उसे अपने मौके मिले, लेकिन दुर्भाग्य से वह इनका फायदा नहीं उठा सका. इसलिए इसे झटका नहीं कहा जा सकता.’ उन्होंने कहा, ‘आपके पास अभी उम्र है, शानदार प्रदर्शन करते रहो. उसे इसके बारे में ज्यादा नहीं सोचना चाहिए’ 

कार्तिक के चयन पर गंभीर ने कहा, ‘दिनेश लंबे समय तक सफेद गेंद के क्रिकेट में विकेटकीपर रहे हैं. शायद उन्हें पंत की तुलना में बेहतर विकेटकीपर के तौर पर देखा गया हो जैसा कि मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा. उन्हें भी बेहतर फिनिशर माना जाता है शायद उन्हें यही लगता है.’ गंभीर ने कहा, ‘लेकिन अगर आप मुझसे पूछोगे तो मैंने कहा था कि मेरा दूसरा विकेटकीपर संजू सैमसन है क्योंकि मुझे लगता है कि वह अभी सर्वश्रेष्ठ में से एक है. उसमें लंबे समय से नंबर चार पर खेलने की काबिलियत है.’ एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति ने सोमवार को 15 सदस्यीय टीम चुनी, जिसकी अगुवाई विराट कोहली करेंगे और रोहित शर्मा उपकप्तान होंगे. 

(भाषा)

 

Trending news