IPL में लय हासिल करने के बाद वॉटो ने लिया अपने देश के क्रिकेट से संन्यास

हाल ही में आईपीएल में चेन्नई के लिए बेहतरीन बल्लेबाजी करने वाले शेन वॉटसन ने ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. उन्होंने 2016 में ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया था. 

IPL में लय हासिल करने के बाद वॉटो ने लिया अपने देश के क्रिकेट से संन्यास
(फोटो: PTI)

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर शेन वॉटसन इन दिनों इंडियन प्रीमियर लीग (आईपील) में चेन्नई की ओर से खेल रहे हैं. पहले 10 मैचों में अपने फॉर्म से जूझते हुए वे 11वें मैच में जाकर लय हासिल कर पाए और 53 गेंदों पर 96 रनों की पारी खेलकर शानदार वापसी की. 2016 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले चुके वॉटसन ने अब ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की है. हालांकि वे आईपीएल में अब भी खेलते नजर आएंगे. 

बिग बैश लीग में इस टीम के कप्तान थे वॉटसन
वॉटसन की संन्यास की घोषणा केवल ऑस्ट्रेलिया में होने वाले क्रिकेट के लिए है जिसका मतलब है कि वे अब बिग बैश लीग में खेलते दिखाई नहीं देंगे. हालांकि वे आईपीए जैसे विदेशी टूर्नामेंट खेलते रहेंगे. वॉटसन बिगबैश लीग में सिडनी थंडर टीम के कप्तान थे. वे इस टीम के साथ पिछले चार साल से जुड़े थे और तीन साल से टीम की कप्तानी कर रहे थे. टीम के लिए उन्होंने लीग में सबसे ज्यादा 1014 रन बनाए हैं जो कि एक अजेय रिकॉर्ड है. 

यह भी पढ़े: IPL 2019: पहला ओवर मेडन खेलने के बाद अकेले शेन वॉटसन ने ही छीन लिया हैदराबाद से मैच

यह कहा रिटायर होने पर
वॉटसन ने कहा, “मैरे पर बेहतरीन यादें हैं जिन्हें मैं हमेशा ही याद रखूंगा जिसमें 2016 की टूर्नामेंट जीत सबसे खास है. मेरे साथियों के लिए, क्लब में मैंने बहुत से शानदार लोगों और क्रिकेटरों के साथ खेला है और मैं हरएक के लिए आने वाले सीजन में तहे दिल से सर्वश्रेष्ठ की दुआ करता हूं.” वॉटसन ने रिटायर होने के घोषणा करते हुए कहा कि वे अब अपने परिवार को समय देना चाहते हैं. 

Shane Watson

इन दिनों आईपीएल में चियर कर रही है उन्हें फैमिली
वॉटसन अपने परिवार से बहुत ज्यादा लगाव रखते हैं. उनके साथ उनकी पत्नी और दो बच्चे हैं. इस समय उनका पूरा परिवार भारत में उन्हें सपोर्ट करने आया है. उनके बेटे विलियम का इंटरव्यू हाल ही में वायरल हुआ जो खुद वाटसन ने लिया था. वॉटसन को शुक्रवार को ही आईपीएल में मुंबई के खिलाफ मैच खेलना है. उनकी टीम चेन्नई पहले ही आईपीएल के प्लेऑफ में जगह बना चुकी है. 

यह भी देखें: VIDEO: डैड ने की छक्कों की बरसात, लेकिन बेटे को इस वजह से धोनी भी पसंद

गेंद और बल्ले दोनों में शानदार रिकॉर्ड
शेन वॉटसन ने ऑस्ट्रेलिया के लिए 10,000 से ज्यादा रन और 291 रन बनाए हैं. वे एक बेहतरीन वनडे ऑलराउंडर रहे हैं. उन्हेोंने अपने टेस्ट करियर के 59 मैचों में चार सेंचुरी और 24 हाफ सेंचुरी के साथ 3731 35.19 के औसत से बनाए हैं और 33.68 के औसत से कुल 75 विकेट लिए है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए 190 वनडे मैच खेले हैं जिनमें उनके नाम 5757 रन और 168 विकेट हैं. इन रिकॉर्ड के अलावा पिछले साल आईपीएल के फाइनल मैच में उनकी 117 रनों की तूफानी पारी उनके सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक मानी जाती है.