close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

टेनिस : जापान के केई निशिकोरी ने जीता ब्रिस्बेन इंटरनेशनल का खिताब

केई निशिकोरी ने करीब तीन साल के बाद कोई खिताब जीता है. उन्होंने फाइनल में रूस के डेनिल मेदवेदेव को हराया. 

टेनिस : जापान के केई निशिकोरी ने जीता ब्रिस्बेन इंटरनेशनल का खिताब
जापान के केई निशिकोरी का यह 12वां एटीपी सिंगल्स खिताब है. (फोटो: PTI)

ब्रिस्बेन: जापान के केई निशिकोरी ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी करते हुए ब्रिस्बेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया है. दूसरी सीड निशिकोरी ने रविवार (6 जनवरी) को पुरुष सिंगल्स के फाइनल में रूस के डेनिल मेदवेदेव को 6-4, 3-6, 6-2 से मात दी. इस जीत के साथ ही उन्होंने मेदवेदेव से पिछले साल टोक्यो में मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया है. चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा ने टूर्नामेंट का महिला सिंगल्स का खिताब जीता

जापानी खिलाड़ी केई निशिकोरी का यह 12वां एटीपी टूर खिताब है. उन्होंने दो घंटे और चार मिनट में यह खिताब अपने नाम किया. वे ब्रिस्बेन इंटरनेशनल का खिताब जीतने वाले पहले जापानी खिलाड़ी बन गए हैं. यह उनका करीब तीन साल में पहला खिताब है. वर्ल्ड नंबर-9 निशिकोरी ने फरवरी 2016 में अपना पिछला खिताब जीता था. उन्हें दो साल पहले ही यहां फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था. वे चोट के कारण पिछले साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा नहीं ले पाए थे. 

यह भी पढ़ें: फेडरर ने जीता तीसरी बार हॉपमैन कप, बने टूर्नामेंट के सबसे सफल खिलाड़ी

इस खिताबी जीत से निशिकोरी को 250 एटीपी रैंकिंग प्वाइंट और 90,990 अमेरिकी डॉलर की इनामी राशि प्राप्त हुई. वहीं, उपविजेता मेदवेदेव को 150 एटीपी रैंकिंग प्वाइंट और 49,025 अमेरिकी डॉलर की इनामी राशि मिली. निशिकोरी ने जीत के बाद कहा, ‘आखिरकार मैं खिताब जीतने में सफल रहा. मैं इससे बहुत खुश हूं. शानदार फाइनल रहा. पिछले साल मुझे जापान में फाइनल में मेदवेदेव से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन अब मैंने उस हार का हिसाब पूरा कर लिया है और मैं इससे खुश हूं.’ 

प्लिस्कोवा ने जीता महिला सिंगल्स का खिताब 
चेक गणराज्य की कैरोलिना प्लिस्कोवा ने टूर्नामेंट का महिला सिंगल्स का खिताब जीता. उन्होंने फाइनल में यूक्रेन की लेसिया सुरेंको को मात दी.  प्लिस्कोवा ने दो घंटे और 13 मिनट तक चले मैराथन मुकाबले में सुरेंको को 4-6, 7-5, 6-2 हराकर खिताबी जीत दर्ज की. यह उनका 12वां एटीपी सिंगल्स खिताब है. ​टूर्नामेंट का डबल्स खिताब अमेरिका की निकोल मेलिचर और चेक गणराज्य की क्वेता पेश्चे ने जीता. इस जोड़ी ने फाइनल में तावाइन की हाओ चिंग चेन और लतिशा चाना को 6-1, 6-1 से हराया.