close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

29 साल के पूर्व तैराकी चैंपियन की सड़क दुर्घटना में मौत, नेशनल रिकॉर्ड था उनके नाम

पूर्व तैराकी चैंपियन एम बी बालाकृष्णन की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई. उनके नाम राष्ट्रीय रिकॉर्ड के साथ दक्षिण एशिय़ाई खेलों को गोल्ड मेडल भी था. 

29 साल के पूर्व तैराकी चैंपियन की सड़क दुर्घटना में मौत, नेशनल रिकॉर्ड था उनके नाम
(फोटो साभार: ट्विटर)

चेन्नई: किसी खिलाड़ी का कम उम्र में देहांत हो जाना परिवार के लिए तो बड़ा सदमा होता ही है, उस खेल को भी बड़ी क्षति होती है. खास कर जब वह खेल तैराकी जैसा हो जहां भारत अंतराराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाने को संघर्ष कर रहा हो. दक्षिण एशियाई खेलों के पूर्व गोल्ड मेडल विजेता तैराक एम बी बालाकृष्णन की यहां सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी. पुलिस ने बुधवार को यह जानकारी दी. 

घटनास्थल पर ही हो गई मौत
बालाकृष्णन के नाम पर एक समय 50 मीटर बैकस्ट्रोक का राष्ट्रीय रिकार्ड दर्ज था. वे मंगलवार की रात को अपने दोस्त के साथ बाइक पर कोयमबेडु से वापस आ रहे थे. वे पीछे बैठे हुए थे लेकिन इस बीच उनका वाहन लॉरी से टकरा गया. पुलिस ने बताया कि बालाकृष्णन खुद पर नियंत्रण नहीं रख पाए और लॉरी के नीचे आ गए जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. 

यह भी पढ़ें: कार एक्सीडेंट में एक शख्स की मौत, दिग्गज गोल्फ प्लेयर टाइगर वुड्स पर केस

ऐसे हुआ हादसा
तिरुमंगलम ट्रैफिक पुलिस ने बताया कि बालाकृष्णन के आगे एक कंक्रीट मिक्सर लॉरी चल रही थी. सिग्नल से जब दोनों वाहन 60 मीटर दूर थे तब सिग्नल हरा हो गया. बायीं ओर चल रहे बालाकृष्णन ने दायीं ओर जाने की कोशिश की और उसी कोशिश में उनकी बाइक लॉरी से टकरा गई. उनका वाहन फिसल गया और वे दायीं ओर गिर गए जिससे वे लॉरी के आगे वाले पहिये की चपेट में आ गए.

 

यह रिकॉर्ड था बालाकृष्णन के नाम
उनहोंने 2007 गुवाहाटी राष्ट्रीय खेलों में गोल्ड मेडल जीता था. उन्होंने जुलाई 2010 में नई दिल्ली में सीनियर राष्ट्रीय चैंपियनशिप में 50 मीटर बैकस्ट्रोक में राष्ट्रीय रिकार्ड बनाया था. बालाकृष्णन ने उसी साल दक्षिण एशियाई खेलों में 100 मीटर और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में गोल्ड मेडल जीते थे.
(इनपुट भाषा)