close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पद्म पुरस्कारों की घोषणा, बछेंद्री पाल को पद्म भूषण, गंभीर और छेत्री को पद्म श्री

बछेंद्री पाल इस साल पद्म भूषण हासिल करने वाली इकलौती खिलाड़ी हैं. वहीं गौतम गंभीर और सुनील छेत्री पद्म श्री पाने वाले खिलाड़ियों में शामिल हैं. 

पद्म पुरस्कारों की घोषणा, बछेंद्री पाल को पद्म भूषण, गंभीर और छेत्री को पद्म श्री
भारत सरकार द्वारा घोषित पद्म पुरस्कारों में बछेंद्री पाल, गौतम गंभीर और सुनील छेत्री खिलाड़ियों में सबसे खास नाम हैं. (फाइल फोटो

नई दिल्ली:  भारत सरकार ने 70वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर 2019 पद्म पुरस्कार प्राप्त करने वाले नामों की घोषणा कर दी है. पर्वतारोही बछेंद्री पाल के नाम की घोषणा भारत के तीसरे सर्वश्रेष्ठ नागरिक पुरस्कार ‘पद्म भूषण’ के लिए की गई. इसी के साथ सरकार ने पद्मश्री अवार्ड का भी ऐलान किया है. पद्म श्री के लिए  गौतम गंभीर, बजरंग पूनिया और सुनील छेत्री को चुना गया. 

विश्व कप विजेता क्रिकेटर गंभीर, स्टार फुटबालर छेत्री और विश्व चैम्पियनशिप के रजत पदकधारी पहलवान बजरंग के अलावा पद्म श्री द्रोणावल्ली हरिका (शतरंज), शरत कमल (टेबल टेनिस), बोम्बाल्या देवी लैशराम (तीरंदाजी), अजय ठाकुर (कबड्डी) और प्रशांती सिंह (बास्केटबाल) को पद्म श्री से सम्मानित किया गया है.

बछेंद्री को 1984 में ही मिल चुका है पद्मश्री
भारत सरकार द्वारा जारी पद्म भूषण पुरस्कार की सूची में बछेंद्री एकमात्र खिलाड़ी हैं. चौंसठ वर्ष की महान पर्वतारोही बछेंद्री 1984 में एवरेस्ट की चढ़ाई करने वाली पहली भारतीय महिला बनी थीं. एवरेस्ट पर सफलतापूर्वक क़दम रखने वाले वे दुनिया की 5वीं महिला बनीं थीं. उत्तराखंड के उत्तरकाशी की रहने वाली बछेंद्री 12 साल की उम्र से ही पर्वातारोहण करना शुरु कर दिया था. बछेंद्री को साल 1984 में ही पद्मश्री से नवाजा जा चुका है. 

गंभीर का शानदार रिकॉर्ड रहा है टीम इंडिया के लिए
तीस वर्षीय गंभीर ने 2007 में भारत की विश्व टी20 खिताबी जीत के फाइनल में और 2011 विश्व कप खिताबी जीत में मैच विनिंग पारी खेली थी.  2003 में अपने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट करियर का आगाज करने वाले गौतम गंभीर ने सभी फॉर्मेट में कुल 242 मैच खेले हैं. इसमें उन्होंने 10324 रन बनाए हैं. दक्षिण अफ्रीका में हुए पहले टी-20 वर्ल्डकप के फाइनल में पाकिस्तान के खिलाफ 75 रनों की पारी खेली थी और 2011 के वनडे वर्ल्डकप फाइनल में  श्रीलंका के खिलाफ सबसे बड़ी  97 रनों की पारी खेली. 

Gautam Gambhir

चौंतीस साल के छेत्री पिछले एक दशक से भारतीय फुटबाल टीम की अगुवाई कर रहे हैं और देश के सर्वकालिक सर्वाधिक गोल करने वाले खिलाड़ी हैं. बजरंग विश्व कप रजत और कांस्य पदकधारी पहलवान हैं, इसके अलावा उन्होंने 2018 में एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों में गोल्ड मेडल जीता था. पिछले साल बजरंग प्रतिष्ठित खेल रत्न पुरस्कार के लिये नहीं चुने जाने के कारण नाराज हो गए थे.

क्रिकेटर विराट कोहली और भारोत्तोलक मीराबाई चानू की देश के शीर्ष खेल पुरस्कार के लिए सिफारिश की गई थी. सरकार ने इस साल 112 विभूतियों को पद्म पुरस्कारों से नवाजा है जिसमें चार पद्म विभूषण, 14 पद्म भूषण और 94 पद्म श्री शामिल हैं.