close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

world health organization

बचपन को डस रहा है 'स्क्रीन' का डंक !

5 साल से कम उम्र के बच्चे अगर बहुत ज्यादा स्क्रीन के सामने वक्त बिताते हैं, तो ऐसे बच्चों की लाइफस्टाइल निष्क्रिय और गतिहीन हो जाती है. उनका ऐक्टिविटी लेवल कम हो जाता है और नींद नहीं आने की समस्या भी विकसित होने लगती है. साथ ही आगे चलकर ऐसे बच्चे मोटापे और उससे संबंधित दूसरी बीमारियों का शिकार होने लगते हैं.

मई 7, 2019, 04:49 PM IST

19 साल पहले खसरा मुक्त घोषित अमेरिका में फिर फैला खसरा, WHO ने घोषित किया वैश्विक स्वास्थ्य खतरा

खसरे के समाप्त होने के बाद इसके मामले फिर से सामने आने का एक बड़ा कारण विकसित देशों में इसके टीकाकरण के विरोध में मुहिम तेज होना माना जा रहा है. 

Apr 25, 2019, 09:28 AM IST

हर साल 8 लाख लोग सुसाइड कर रहे हैं: वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की रिपोर्ट की माने तो दुनिया में हर साल 8 लाख लोग सुसाइड कर रहे हैं और करीब 8 हजार लोग सोशल मीडिया पर लाइव सुसाइड करते हैं. सुसाइड करने वालों में कोई खास वर्ग या आयु के लोग नहीं हैं. कोई गरीबी या मजबूरी में मौत को चुन लेता है तो कोई ख्वाबों के टूट जाने पर टूट जाता है. किसी को हार स्वीकार नहीं होती तो कोई रिश्तों में उलझकर तनाव ग्रस्त हो जाता है.

Jan 31, 2019, 04:42 PM IST

थूक, लार, कपड़े से फैलती है ये बीमारी, WHO ने बताया दूसरी सबसे बड़ी महामारी

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि कांगो में फैली इबोला बीमारी अब तक के इतिहास में दूसरी सबसे बड़ी महामारी है. कुछ साल पहले फैली ये महामारी पश्चिमी अफ्रीका में हजारों लोगों की जान ले चुकी है.

Nov 30, 2018, 11:16 AM IST

कुछ ही मिनट में पता चल जाएगा कि दवाई असली है या नकली, वैज्ञानिकों ने खोजा ये तरीका

विकासशील देशों में बड़े पैमाने पर घटिया दवाओं का उत्पादक और वितरण होता है.

Aug 22, 2018, 07:21 PM IST

शिशु के लिए संपूर्ण आहार होता है मां का दूध और पहला दूध तो अमृत है : WHO

दुनिया भर में लगभग 7.8 करोड़ शिशु यानी प्रत्येक 5 में से 3 शिशुओं को जन्म के बाद शुरुआती पहले घंटे में स्तनपान नहीं कराया जाता है.

Aug 1, 2018, 05:48 PM IST

दुनिया में करीब 8 करोड़ नवजात को नहीं मिलता मां का दूध : UNICEF

 दुनिया भर में अनुमानित 7.8 करोड़ शिशु यानी प्रत्येक पांच में से तीन शिशुओं को जन्म लेने के बाद शुरुआती प्रथम घंटे में स्तनपान नहीं कराया जाता है. 

Jul 31, 2018, 06:21 PM IST

विश्व रक्तदान दिवस: आपका खून किसी की सांसों को थमने से रोक सकता है

विकसित देशों में जहां अधिकांश रक्तदाता स्वैच्छिक होते हैं भारत सहित विभिन्न विकासशील देशों में लोग धन लेकर भी रक्तदान करते हैं. 

Jun 14, 2018, 12:43 AM IST

चीनी वैज्ञानिकों ने जीका वायरस के दो स्ट्रेन को सफलतापूर्वक अलग किया

चीनी वैज्ञानिकों ने जीका वायरस स्ट्रेन को अलग-थलग करने में सफलता हासिल की है। इससे संभावित टीकाकरण और मच्छरजनित बीमारी के संचरण प्रारूप के अध्ययन में मदद मिलेगी।

Feb 25, 2016, 07:51 PM IST

जिका वायरसः WHO ने घोषित किया वैश्विक आपातकाल

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने मच्छर जनित वायरस ‘जिका’ के प्रसार को लेकर अंतरराष्ट्रीय आपात स्थिति घोषित कर दी। इस वायरस से जन्म संबंधी विकृति होने का संदेह है।

Feb 2, 2016, 09:34 AM IST

जिका वायरसः WHO ने भारत समेत कई देशों को अलर्ट किया

20 से ज्यादा देशों को भयानक रूप से प्रभावित कर चुके जिका वायरस के संक्रमण का खतरा अब भारत में भी गंभीर होता जा रहा है। संक्रमित देशों से आ रही गर्भवती महिलाओं के खासतौर पर दिशानिर्देश बनाने के लिये एक समिति गठित की गई है। हालांकि अभी तक देश में संक्रमण का कोई मामला नहीं आया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने मच्छर से फैलने वाले खतरनाक जिका वायरस के लिए भारत सहित कई देशों के लिए अलर्ट जारी किया है। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक मार्ग्रेट चान ने कहा कि जिका वायरस भयंकर रूप ले रहा है। 

Jan 30, 2016, 05:21 PM IST

ऐडीज मच्छर वाले दूसरों देशों में फैल सकता है जिका: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने आगाह किया कि जिका विषाणु ‘भयानक तरीके से’ अमेरिकी देशों में फैल रहा है और 40 लाख तक लोगों को संक्रमित कर सकता है।

Jan 29, 2016, 09:50 AM IST

इटली वासियों के 100 साल से ज्यादा जीने का राज खुला?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार इटली 65 से अधिक आयु वाली सर्वाधिक आबादी वाला यूरोपीय देश है और इस मामले में वह दुनिया में दूसरे स्थान पर है।

Jan 27, 2016, 11:48 AM IST

करोड़ों खर्च करने के बाद भी स्वच्छता कार्यक्रम में जमीनी वास्तविकता डांवाडोल : CAG

भारत के नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) ने खुले में शौच के चलन की समाप्ति को स्वच्छता कार्यक्रम का मुख्य मुद्दा बताया और कहा कि यह ऐसा आचरण है जो न केवल जन स्वास्थ्य पर बुरा प्रभाव डालता है बल्कि यह मानव गरिमा के भी प्रतिकूल है। कैग ने कहा कि स्वच्छता कार्यक्रम के तहत भारी राशि खर्च करने के बाद भी जमीनी वास्तविकता काफी डांवाडोल है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए इसने कहा कि खुले में शौच करने वाले लोगों की संख्या एशिया में लगातार कम हो रही है। लेकिन भारत फिर भी विश्व में खुले में शौच करने वाले लोगों की सर्वाधिक संख्या (60.09 प्रतिशत) वाला देश बना हुआ है जो वास्तव में चिंता का विषय है।

Dec 8, 2015, 08:08 PM IST

माली में इबोला का पहला मामला, 2 साल बच्ची की मौत

पश्चिमी अफ्रीकी देश माली में उस दो वर्षीय बच्ची की मौत हो गई जिसे देश में इबोला की पहली मरीज बताया गया था।

Oct 25, 2014, 10:51 AM IST