जब इमरान खान ने लिखा 'डियर मोदी साहब...मैं आपके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं'

इमरान खान ने उम्मीद जताई है कि दोनों देशों के विदेश मंत्री इस महीने न्यूयॉर्क में होने वाली यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली की बैठक के इतर बातचीत करें. उनका ये पत्र जी न्यूज के सहयोगी चैनल WION के पास है.

जब इमरान खान ने लिखा 'डियर मोदी साहब...मैं आपके साथ मिलकर काम करना चाहता हूं'

लाहौर : पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान भारत के साथ एक बार फिर से बातचीत शुरू करने के पक्ष में हैं. वह चाहते हैं दोनों पड़ोसी देशों के बीच फिर से बातचीत का रास्ता खुले. इसके  लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. इमरान खान ने उम्मीद जताई है कि दोनों देशों के विदेश मंत्री इस महीने न्यूयॉर्क में होने वाली यूनाइटेड नेशंस जनरल असेंबली की बैठक के इतर बातचीत करें. उनका ये पत्र जी न्यूज के सहयोगी चैनल WION के पास है.

इमरान ने अपने पत्र में लिखा है कि वह चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच चल रहे तमाम मुद्दों को बातचीत से सुलझाने की दिशा में आगे बढ़ा जाए. इसके लिए इमरान खान ने पीएम मोदी को जो पत्र लिखा है वह इस प्रकार है...

डियर मोदी साहब
मेरे प्रधानमंत्री बनने पर आपने जो मुझे हार्दिक बधाई भेजी उसके लिए आपका शुक्रिया. मैं आपकी भावनाओं का सम्मान करता हूं. बातचीत और सहयोग से ही दोनों देशों के रिश्तों को आगे बढ़ाया जा सकता है. इन्हीं भावनाओं को ध्यान में रखते हुए पाकिस्तान के कानून और सूचना मंत्री भारत के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के अंतिम संस्कार के समय भारत गए थे. वाजपेयी उन लोगों में से थे, जिन्होंने दोनों देशों के बीच संबंधों को सुधारने की दिशा में बहुत शिद्दत से कदम बढ़ाए थे.
पाकिस्तान और भारत के रिश्ते बहुत चुनौतीपूर्ण हैं. लेकिन हम चाहते हैं कि हम अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए अपने सभी बड़े मुद्दों का शांतिपूर्ण समाधान खोजें. इसमें जम्मू कश्मीर का मु्द्दा भी शामिल है. सिचाचिन और सरक्रीक भी ऐसे ही मुद्दे हैं, जो शांतिपूर्ण हल चाहते हैं. पाकिस्तान आतंकवाद पर भी बातचीत करना करने के लिए तैयार है. हम व्यापार पर भी बातचीत चाहते हैं. लोगों का आपस में संवाद हो. धार्मिक यात्रा मानवीय मुद्दे भी अहम हैं.

हम चाहते हैं कि दोनों देशों के बीच एक आपसी संबंध बने और शांति कायम हो. इसलिए मैं पाकिस्तान के विदेश मंत्री मखदूम शाह महमूद कुरैशी और भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के बीच मीटिंग का प्रस्ताव रखता हूं. ये मीटिंग न्यूयॉर्म में होने वाली यूएन जनरल असेंबली के अलावा हो. इस मीटिंग में आगे के रास्ते निकल सकते हैं. खासकर इस्लामाबाद में होने वाली सार्क समिट से पहले ये एक बड़ी पहल होगी. ये समिट मौका होगा, जब आप पाकिस्तान की यात्रा करें और बातचीत के आगे के रास्ते खुलें.

मैं आपके साथ मिलकर दोनों देशों के लोगों के फायदे के लिए काम करना चाहता हूं. कृपया इसे स्वीकार करें.

इससे पहले पीएम मोदी ने भी नई सरकार के प्रति अच्छा रुख अपनाते हुए खुद फोन कर इमरान खान को बधाई दी थी. साथ ही भेंट स्वरूप एक क्रिकेट बैट भी भेजा था. इसके लिए पीएम इमरान ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. पत्र में अनुरोध किया गया है कि संयुक्त राष्ट्र की बैठक से अलग भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी बातचीत करें. यहां ज्ञात हो कि अगले महीने संयुक्त राष्ट्र के जनरल असेंबली की बैठक होनी है. माना जा रहा है कि पीएम मोदी ने पिछले दिनों दोनों देशों के बीच नए सिरे से संबंध सुधारने के संकेत दिए थे. इसके जवाब में इमरान खान ने पीएम मोदी को यह पत्र लिखा है. इससे पहले चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद इमरान खान ने कहा था कि अगर भारत एक कदम आगे बढ़ाएगा तो वह दो कदम बढ़ाएंगे.

Zee News App: पाएँ हिंदी में ताज़ा समाचार, देश-दुनिया की खबरें, फिल्म, बिज़नेस अपडेट्स, खेल की दुनिया की हलचल, देखें लाइव न्यूज़ और धर्म-कर्म से जुड़ी खबरें, आदि.अभी डाउनलोड करें ज़ी न्यूज़ ऐप.