close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

नेपाल में अब नहीं चलेंगे 100 रुपये से अधिक मूल्य के भारतीय नोट

नेपाल राष्ट्र बैंक ने रविवार को नेपाली यात्रियों, बैंकों और वित्तीय संस्थानों को 100 रुपये से अधिक की भारतीय मुद्रा को रखने या उससे कारोबार करने पर रोक लगा दी है.

नेपाल में अब नहीं चलेंगे 100 रुपये से अधिक मूल्य के भारतीय नोट
00 रुपये के नोट से खरीदारी करने की अनुमति है.(फाइल फोटो)

काठमांडूः नेपाल में अब 100 रुपये से उच्च मूल्य वर्ग के भारतीय नोट का उपयोग नहीं किया जा सकेगा. नेपाल के केंद्रीय बैंक ने 2,000 रुपये, 500 रुपये और 200 रुपये के भारतीय नोटों के इस्तेमाल पर पाबंदी लगा दी है. इस कदम से नेपाल की यात्रा करने वाले भारतीयों को परेशानी हो सकती है. काठमांडू पोस्ट की खबर के मुताबिक, नेपाल राष्ट्र बैंक ने रविवार को परिपत्र जारी करके नेपाली यात्रियों, बैंकों और वित्तीय संस्थानों को 100 रुपये से अधिक की भारतीय मुद्रा को रखने या उससे कारोबार करने पर रोक लगा दी है.

नेपाली लड़कियों को खाड़ी देशों में बेचता था लोपसंग लामा, पुलिस ने फिल्मी स्टाइल में धर-दबोचा

केंद्रीय बैंक ने कहा कि 200 रुपये, 500 रुपये और 2,000 रुपये के भारतीय नोटों को नहीं रखा जा सकेगा और उनका इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा. नए नियमों के तहत, नेपाल के नागरिक इन मूल्यवर्ग के नोटों को भारत के अलावा किसी अन्य देश में नहीं ले जा सकते हैं. इसी प्रकार, इन नोटों को किसी दूसरे देश से नेपाल लेकर भी नहीं आ सकते हैं. हालांकि, 100 रुपये के नोट से खरीदारी करने की अनुमति है. नेपाल के केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 13 दिसंबर को अधिसूचना प्रकाशित करने का फैसला किया था ताकि लोगों को नेपाल में 100 रुपये से ऊंचे मूल्य वर्ग के भारतीय नोट ले जाने से रोका जा सके. पर्यटन क्षेत्र से जुड़े कारोबारियों और उद्यमियों ने इस प्रतिबंध की आलोचना की है.

नेपाल: काठमांडू में दिव्यांगों को दिए गए ‘जयपुर फुट’, राजदूत पूरी, नेपाल के उप प्रधानमंत्री रहे मौजूद

उन्होंने कहा है कि ऐसे समय जब देश के पर्यटन को बढ़ावा दिया जा रहा है और सरकार ‘‘नेपाल की यात्रा पर आयें’’ अभियान चला रही है इस तरह का कदम पर्यटन उद्योग के लिये नुकसानदेह हो सकता है. नेपाल सरकार 2020 तक 20 लाख पर्यटकों के नेपाल आने का लक्ष्य कर रही है. भारत सरकार ने 2016 में 500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद करने के बाद 200, 500 और 2,000 रुपये के नए नोट जारी किए थे. सरकार के इस कदम से नेपाल और भूटान जैसे देशों को काफी दिक्कतें हुई थी क्योंकि इन देशों में बड़े पैमाने पर भारतीय मुद्रा का उपयोग होता है.

(इनपुट भाषा)