चिली के राष्ट्रपति के यरुशलम के पवित्र स्थल पर जाने को लेकर इजराइल ने जताई आपत्ति

चिली के राष्ट्रपति के यरुशलम के पवित्र स्थल पर जाने को लेकर इजराइल ने जताई आपत्ति

 फलस्तीन के एक मंत्री के साथ चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा ने यरुशलम के एक बेहद संवेदनशील स्थान का दौरा किया जिस पर इजराइल ने अपनी आपत्ति जताई है

चिली के राष्ट्रपति के यरुशलम के पवित्र स्थल पर जाने को लेकर इजराइल ने जताई आपत्ति

यरुशलम: फलस्तीन के एक मंत्री के साथ चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा ने यरुशलम के एक बेहद संवेदनशील स्थान का दौरा किया जिस पर इजराइल ने अपनी आपत्ति जताई है. पिनेरा इजराइल और वेस्ट बैंक के दौरे पर हैं. उन्होंने मंगलवार को अल अक्सा मस्जिद की परिसर का दौरा किया. सोशल मीडिया पर शेयर की गई तस्वीरों में पिनेरा के साथ फलस्तीन के अधिकारी सहित यरुशलम मामलों के मंत्री फआदी अल-हादमी भी दिखे हैं. दअसल अल-अक्सा की स्थिति विवादित है. यहूदी इसे टेम्पल माउंट कहते हैं. यह वेस्टर्न वाल के ऊपर स्थित है.

यह इजराइल और फलस्तीन संघर्ष के मुख्य संवेदनशील बिंदुओं में से एक है. यह यहूदियों का सबसे पवित्र स्थल माना जाता है जबकि मुस्लिमों के लिए मक्का और मदीना के बाद यह तीसरा सबसे पवित्र स्थल है जिसकी देखरेख मुस्लिम वक्फ करती है लेकिन इसकी सुरक्षा इजराइल पुलिस के जिम्मे है.

इजराइल के विदेश मंत्री इजराइल काट्ज ने इसके लिए चिली के राजदूत को फटकार लगाई गई है. विदेशी प्रतिनिधिमंडल सामान्य तौर पर इस संवेदनशील स्थान का दौरा इजराइल के अधिकारियों के साथ करते हैं. चिली के एक आधिकारिक सूत्र ने बताया कि यह दौरा ‘निजी’ था.

चिली दुनिया का ऐसा देश है जहां बड़ी संख्या में फलस्तीन के प्रवासी रहते हैं. 

Trending news